comscore
- विज्ञापन -
Home ऑटो Pulsar Electric: रेंज बढ़ाने के लिए बजाज ऑटो करेगा कई बदलाव, जानें...

Pulsar Electric: रेंज बढ़ाने के लिए बजाज ऑटो करेगा कई बदलाव, जानें क्या है प्लान

pulsar electric
Image Credit- Bajaj auto
- विज्ञापन -

Pulsar Electric: भारतीय ऑटोमोबाइल बाजार में इलेक्ट्रिक चीजों का विस्तार तेजी से बढ़ रहा है. इलेक्ट्रिक लाइनअप का विस्तार तो होगा लेकिन क्या पेट्रोल वाहनों पर लोगों का ध्यान नहीं जाएगा? 2022 की शुरुआत में एक गोलमेज सम्मेलन में कार्यकारी निदेशक राकेश शर्मा ने बताया कि घरेलू ईवी बाजार शुरुआती अवस्था में है लेकिन अपेक्षाकृत अपनी गति धीमी रखे है. घरेलू निर्माता ने अपने व्यवसाय में बढ़ोतरी करके कुछ अलग चीजों पर मेहनत की है. इसी में बजाज ऑटो का Pulsar Electric भी है जिसमें कई बदलाव हो सकते हैं.

क्या होंगे Pulsar Electric में बदलाव?

बजाज पल्सर का इलेक्ट्रिक रूप ब्रांड की रेंज में एक शानदार मॉडल साबित हो सकता है. अगर ये लॉन्च होती है तो कंपनी की बिक्रई में काफी योगदान हो सकता है. पल्सर नेमप्लेट पहले से ही घरेलू बाजार में लोकप्रिय वाहन है. भारत में इलेक्ट्रिक बाइक्स लॉन्च नहीं हुई है हालांकि बजाज ऑटो भी चेत ईवी के लिए निर्यात मार्केट में करना चाहता है. इलेक्ट्रिक टू व्हीलर्स निर्माता वर्तमान में दक्षिण पूर्व एशियाई देशों में काफी फेमस है. घरेलू बाजार में भारतीय सरकार यात्री वाहनों की बिक्री में करीब 30 फीसदी ईवी पैठ बनाने के लक्ष्य के हिसाब से है. अगर ऐसा ऐसा होता है तो ऑटो बिक्री का ज्यादातर भाग अभी भी पेट्रोल से नियंत्रित होता. अगर बजाज को अपना ध्यान ICE टूव्हीलर्स पर रखना है तो कुछ अलग करना होगा.

Bajaj pulsar n150
Image Credit- Bajaj auto
- विज्ञापन -

इसी बात को ध्यान में रखते हुए बजाज अपने EV और ICE वर्टिकल को अलग करने का फैसला ले रहा है. इससे दोनों पर ठीक से कंपनी ध्यान दे पाएगी. इसी कड़ी में यह भी है कि सेमीकंडक्टर चिप की कमी वैश्विक ऑटोमोबाइल बिजनेस के लिए बड़ा मुद्दा रहा है. इसलिए इलेक्ट्रिक वाहन ऐसे ही चिप्स पर निर्भर रहे हैं. अब देखना काफी दिलचस्प होगा कि बजाज ऑटो अपनी स्थिति को बनाए रखने के लिए क्या-क्या प्लान बनाता है.

इसे भी पढ़ें: LML Electric Scooter: अब एलएमएल मार्केट में उतारेगी इलेक्ट्रिक स्कूटर, जानें कंपनी का धांसू प्लान

- विज्ञापन -
अर्पित ओमर The Vocal News Hindi में बतौर Senior Sub-Editor कार्यरत हैं. उनकी रुचि बिज़नेस और पॉलिटिक्स में है और इन विषयों पर वह काफी समय से लिखते आ रहे हैं. उन्होंने अपनी जर्नलिज्म की पढ़ाई लखनऊ यूनिवर्सिटी से की है.