डीजल और पेट्रोल इंजन में कौन है दमदार और किसकी लाइफ है अधिक, जानिये यहाँ

Image credit: pixabay

अधिकांश टैक्सी चालक डीजल इंजन का विकल्प चुनते हैं। इसके दो कारण हैं। पहला यह है कि एक डीजल इंजन बेहतर ईंधन दक्षता देता है और दूसरा यह है कि वे अधिक समय तक चलते हैं। पहले वाले के बारे में तो लोग जानते हैं, लेकिन डीजल इंजन की लंबी उम्र एक ऐसी चीज है जिससे लोग अभी भी परिचित नहीं हैं।

इसे समझने के लिए हमें एक इंजन की कुछ बुनियादी बातों और दोनों इंजनों के काम करने के तरीके को समझना होगा। दोनों इंजन फोर-स्ट्रोक साइकिल पर आधारित हैं।

Image credit: pixabay

सबसे पहले, पिस्टन नीचे चला जाता है, यह तब होता है जब सेवन वाल्व खुलता है और ईंधन और हवा का मिश्रण सिलेंडर में प्रवेश करता है। इसे सेवन स्ट्रोक के रूप में जाना जाता है।

पेट्रोल जल्दी वाष्पित हो जाता है इसलिए यह आसानी से हवा में मिल जाता है। इस मिश्रण को पॉवर करने के लिए केवल एक स्पार्क की जरूरत होती है जो एक स्पार्क प्लग से किया जाता है। स्पार्क प्लग एक चिंगारी पैदा करता है और स्ट्रोक जेनरेट करता है। दूसरी ओर, डीजल हवा के साथ अच्छी तरह से मिश्रित नहीं होता है।

Image credit: pixabay

इसके कारण पेट्रोल इंजन में स्पार्क प्लग की आवश्यकता होती है जबकि डीजल इंजन में फ्यूल इंजेक्टर की आवश्यकता होती है।

हम देखते हैं कि पिक-अप ट्रक, एसयूवी और ट्रकों में डीजल इंजन का इस्तेमाल किया जा रहा है। मूल रूप से, बड़े वाहनों और वाहनों को लंबी अवधि के लिए भारी भार ढोना पड़ता है। डीजल इंजन काफी अधिक टॉर्क उत्पन्न करते हैं जो कि वाहन में सामान ढोने के लिए आवश्यक है। टॉर्क वह गति बल है जो इंजन द्वारा उत्पन्न की जाती है।

डीजल इंजन का पेट्रोल इंजन की तुलना में अधिक समय तक चलने का कारण यह है कि डीजल हल्का तेल है। डीजल इंजन में जलता है और साथ ही इंजन के पुर्जों को लुब्रिकेट करता है। यह इंजन के घटकों को अधिक सुचारू रूप से चलने और लंबे समय तक चलने का कारण बनता है। जब तुलना की जाती है, तो पेट्रोल एक डिटर्जेंट है और यह इंजन को सुखाने वाले इंजन घटकों से तेल को धो देता है। इससे पेट्रोल इंजन के पुर्जे जल्दी खराब हो जाते हैं।

Image credit: pixabay

एक पेट्रोल इंजन की सामान्य लाइफ लगभग 3 लाख किलोमीटर तक होती है। हालांकि, एक डीजल इंजन की लाइफ आसानी से 5 लाख किलोमीटर तक चल सकती है। मैकेनिक्स का कहना है कि अगर ठीक से रखरखाव किया जाए तो डीजल इंजन लगभग 30 साल तक चल सकता है।

यह भी पढ़ें: Maruti Ciaz Vs Hyundai I20, 15 लाख सेग्मेंट में कौन मारेगा बाजी