comscore
Monday, December 5, 2022
- विज्ञापन -

Aloo Ki Kheti: अब मिट्टी में नही हवा में उगेगा आलू, जानें कितनी होगी कमाई और कैसे करें प्रोडेक्शन

Published Date:

Aloo Ki Kheti: हम सभी को पता है कि आलू जमीन के अंदर उगता है। इसके लिए किसान प्रॉपर बीज डालकर, जुताई, बुआई करता है और उसके बाद कहीं जाकर हमें आलू की पैदावार मिलती है। आलू हर किसी का फेवरेट होता है और इससे हम कुछ भी टेस्टी डिश बना सकते हैं।

मगर यहां हम आपको एक ऐसी खबर बताएंगे जिसे सुनकर आप हैरान रह जाएंगे। शायद ही आप जानते हों कि आलू की खेती हवा में भी हो सकती है। खेती-किसानी में नए तकनीक जोड़ने के कारण ये संभव हो पाया है। Aeroponic Potato Farming कैसे होता है चलिए जानते हैं।

कैसे होती है हवा में Aloo Ki Kheti?

हरियाणा के करनाल जिले में आलू प्रोद्योगिकी में एरोपोनिक तकनीक का इस्तेमाल किया गया है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, इस तकनीक से खेती करने पर आलू की पैदावार 10 गुना बढ़ती है। सरकार भी इस तकनीक से खेती करने की मंजूरी किसानों को दे चुकी है। अब Aeroponic Potato Farming आपके लिए सुविधाजनक बन जाएगी।

एरोपोनिक तकनीक में आलू में लटकती जड़ें ही उन्हें पोषक देती हैं। इसके बाद में मिट्टी और जमीन की जरूरत नहीं पड़ती है। एक्सपर्ट्स कहते हैं कि एरोपोनिक तकनीक से किसानों के लिए आलू की खेती करना आसान हो गया है। इससे किसान कम समय और लागत में आलू की ज्यादा पैदावार हासिल कर रहे हैं। आलू की ज्यादा पैदावार से किसानों को अधिक आमदनी होगी।

Image credits: Pexels

हरियाणा के करनाल जिले में आलू प्रौद्योगिक केंद्र में बताया गया है कि आलू के बीच के उत्पादन की क्षमता को 3-4 गुना बढ़ाया गया है। इस तकनीक से अन्य राज्यों के किसानों को भी लाभ पहुंच सकता है। इस तकनीक का उपयोग पत्तेदार सागा, स्ट्रॉबेरी, खीरे, टमाटर और अन्य जड़ी बूटियों के लिए भी किया जा सकता है। किसानों के बीच एरोपोनिक फार्मिंग की जागरुकता फैलाने के लिए कई सेंटर भी बनाए गए हैं। इसी अधिक जानकारी आपको एग्रीचल्चर के आधिकारिक वेबसाइट पर मिल सकती है।

इसे भी पढ़ें: MP Agricultural Scheme: किसानों के लिए खुशखबरी! अब अनाज बेचने की जिम्मेदारी लेंगी ये कंपनियां, जानें कैसे?

Punit Bhardwaj
Punit Bhardwaj
पुनीत भारद्वाज एक उभरते हुए पत्रकार हैं और The Vocal News Hindi में बतौर Sub-Editor कार्यरत हैं। उनकी रुचि बिजनेस,पॉलिटिक्स और खेल जैसे विषयों में हैं और इन विषयों पर वह काफी समय से लिखते आ रहे हैं। उन्होंने अपनी जर्नलिज्म की पढ़ाई AAFT से की है।
- विज्ञापन -

ताजा खबरें

अन्य सम्बंधित खबरें

Chanakya Niti: वास्तव में पाना चाहते हैं अपने जीवन में सफलता, तो हंस से सीखें ये कला

Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य द्वारा व्यक्ति को जीवन में...