Budget 2022: वित्त मंत्री की बजट टीम में हैं ये 5 महारथी, जानिए किसकी है क्या भूमिका

Budget 2022: अगले महीने 1 फरवरी को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharamal) अपना चौथा बजट पेश करने की तैयारी में हैं। इस बार देश की अर्थव्यवस्था को काफी राहत मिलने की उम्मीद है। वित्त मंत्री के साथ पूरी टीम (Union Budget 2022 Team) आम से खास आदमी को ध्यान में रखकर बजट तैयार कर रही है।

दरहसल हम आपको बता दें की बजट केवल वित्त मंत्री अकेले तैयार नहीं करते बल्कि उनके साथ विशेषज्ञों एक पूरी टीम होती हैं। आज हम आपको बताते हैं, निर्मला सीतारमण की टीम में शामिल उन खास लोगों के बारें में जो बजट बनाने में वित्त मंत्री के साथ एक अहम भूमिका निभा रहे हैं।

तरुण बजाज

आपको बता दें, तरुण बजाज (Tarun Bajaj) वित्त मंत्रालय के आर्थिक मामलों के विभाग में सचिव हैं। तरुण 1988 हरियाणा बैच के आईएएस अधिकारी हैं। इसी के साथ वित्त मंत्रालय में पदस्थ होने से पहले तरुण प्रधानमंत्री कार्यालय में भी अपनी सेवाएं प्रदान कर चुके हैं।

टीवी सोमनाथन

वित्त मंत्रालय के पांच सेक्रेटरियों में से सबसे वरिष्ठ को फाइनेंस सेक्रेटरी नियुक्त किया जाता है। वर्तमान में यह बड़ी जिम्मेदारी T. V. Somanathan संभाल रहे हैं। बता दें, टीवी सोमनाथन इस बजट टीम का प्रमुख चेहरा हैं। इसी के साथ सोमनाथन 1987 बैच के तमिलनाडु कैडर के आईएएस अधिकारी हैं। वित्त मंत्रालय में पदस्थ होने से पहले सोमनाथन विश्व बैंक में भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं। बताते चलें, सोमनाथन कलकत्ता विश्वविद्यालय से इकनॉमिक्स में पीएचडी हैं।

अजय सेठ

अजय सेठ (Ajay Seth) कर्नाटक कैडर से 1987 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। वित्त मंत्रालय में सबसे नया सदस्य होने के बावजूद, इकोनॉमिक अफेयर्स सेक्रेटरी के पद पर तैनात अजय सेठ पर सभी की निगाहें होंगी, क्योंकि डीईए कैपिटल मार्केट, इनवेस्टमेंट और इन्फ्रास्ट्रक्चर से जुड़ी नीतियों के लिए नोडल डिपार्टमेंट हैं। इनके पास भारत की जीडीपी (GDP) ग्रोथ को बरकरार रखने के क्रम में अर्थव्यवस्था में प्राइवेट कैपिटल एक्सपेंडिचर को रिवाइव करने जैसा कठिन काम है। 

देबाशीष पांडा

बता दें, देबाशीष पांडा (Debasish Panda) 1987 बैच के उत्तर प्रदेश कैडर के आईएएस अधिकारी हैं। वह वित्त मंत्रालय के वित्तीय सेवा विभाग में सचिव हैं। पांडा बजट में वित्तीय क्षेत्र से जुड़े छोटे-बड़े सभी एलान उनकी जिम्मेदारी के तहत आते हैं। उनके पास वित्तीय सिस्टम की स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के साथ मिलकर काम करने की भी जिम्मेदारी है।

तुहिन कांत पांडे

तुहिन कांत पांडे 1987 बैच के ओडिशा कैडर के आईएएस अधिकारी हैं। आपको बता दें, तुहिन सार्वजनिक परिसंपत्ति प्रबंधन विभाग के सचिव हैं। इसी के साथ उन्हें अक्तूबर 2019 में डीआईपीएएम का सचिव नियुक्त किया गया था।

कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यन

कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यन भी वित्त मंत्री की टीम का अहम हिस्सा हैं। वे फाइनेंशियल इकनॉमिक्स में पीएचडी हैं। आपको बता दें कि सुब्रमण्यन को दिसंबर 2018 में मुख्य आर्थिक सलाहकार बनाया गया था। इसी के साथ कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यन बैंकिंग, कॉरपोरेट प्रशासन और आर्थिक नीति का महारथी माना जाता है।

ये भी पढ़ें: Budget 2022- जानिए अंतरिम और आम बजट में क्या है फर्क? दोनों में कौनसा है जरूरी

जरूर देखें: