Free Ration Scheme Update: राशन कार्ड धारकों के लिए सरकार ने लिया बड़ा फैसला,जानें आपके लिए फायदेमंद हैं या नही

free ration scheme update

Free Ration Scheme Update: गरीबों के कल्याण के लिए सरकार की ओर से कई कदम उठाए गए हैं।वहीं सरकार की ओर से कई स्कीम भी गरीब वर्ग के लोगों के लिए चलाई जा रही है। कोई भूखा न सोए, इस उम्मीद से सरकार गरीब लोगों को फ्री राशन भी मुहैया करवा रही है। आपको बता दें कि कोरोना के बाद से ही लोगों को आर्थिक स्तर पर कई प्रकार की चुनौतियां देखने का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में कई ऐसे लोग भी मौजूद हैं जिन्हें दो वक्त की रोटी भी ठीक से नसीब नहीं हो पाती । ऐसे ही लोगों के लिए केंद्र सरकार की ओर से फ्री राशन स्कीम (Free Ration Scheme)चलाई जा रही है।अब सरकार की तरफ से इसे बंद करने का फैसला ल‍िया गया है. राज्‍य के सभी ज‍िला पूर्त‍ि अध‍िकरी ने इसके ल‍िए एक प्रेस र‍िलीज जारी की है।

क्या है ये योजना?

बता दें कि मार्च 2020 में केंद्र सरकार की ओर से राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (NFSA) के तहत कवर किए गए 80 करोड़ से अधिक लाभार्थियों को अनाज मुफ्त प्रदान करने के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (PM-GKAY) की शुरुआत की गई थी। इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को प्रति व्यक्ति प्रति माह 5 किलो अनाज मुफ्त मिलता है वहीं इस योजना के शुरू होने से COVID महामारी के दौरान लोगों की कठिनाइयां काफी हद तक कम हुई थी।

इस योजना पर कितना आया खर्च?

80,000 करोड़ रुपये की लागत से गरीबों को 5 किलो अनाज मुफ्त में छह महीने के लिए सरकार की ओर से दिया जा रहा है।पहले इस स्कीम की आखिरी तारीख 31 मार्च 2022 थी हालांकि मार्च के महीने में ही इसे 30 सितंबर 2022 तक बढ़ा दिया गया था। वहीं एक अधिकारी ने कहा कि गरीबों की मदद के लिए फंड की कोई कमी नहीं है। अगर इस योजना को एक तिमाही के लिए आगे बढ़ाया जाता है तो सरकार को इसके लिए 40,000 करोड़ रुपये खर्च करने पड़ेंगे। अब तक इस योजना पर 3.40 लाख करोड़ रुपये खर्च किए जा चुके हैं।

ये है Free Ration Scheme Update?

अधिकारियों का कहना है कि दुनिया अभी महामारी और रूस-यूक्रेन युद्ध के असर से नहीं निकल पाई है। इसलिए गरीबों को राहत देने के लिए फ्री राशन योजना को तीन से छह महीने तक और आगे बढ़ाया जा सकता है। अधिकारियों के मुताबिक प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना दुनिया का सबसे बड़ा फूड सिक्योरिटी प्रोग्राम है। इसके लिए सरकार के पास अनाज का पर्याप्त भंडार है और सरकार फ्री राशन स्कीम को सितंबर से आगे बढ़ाने की स्थिति में है।वहीं सरकार ने अब इसे बंद करने का फैसला लिया है।हालांक‍ि, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (Pradhanmantri Garib Kalyan Yojana) के तहत म‍िलने वाला मुफ्त राशन सितंबर तक जारी रहेगा।

15 करोड़ लोगों पर पड़ेगा असर

फ‍िलहाल यूपी में राशन कार्डधारकों की संख्या 3.59 करोड़ है।इसमें गृहस्थ राशन कार्ड धारक 3.18 करोड़ और अंत्योदय कार्ड धारक 40.92 लाख हैं. दोनों तरह के राशनकार्ड पर कुल आश्रित 14.94 करोड़ हैं. सरकार की तरफ से इस योजना को बंद करने पर 15 करोड़ लोगों पर असर पड़ेगा। आपको बता दें कि यूपी में योगी सरकार की ओर से मुफ्त राशन योजना बंद होने के बाद कार्ड धारकों को गेहूं के ल‍िए 2 रुपये प्रति किलो और चावल के ल‍िए 3 रुपये प्रति किलो की दर से भुगतान करना होगा।

यह भी पढ़ें: महिलाओं के लिए एकदम फ्री में सिलाई मशीन दे रही है सरकार, मौका हाथ से ना जाने दें, ऐसे पाएं तुरंत