Gold Price Today: आज फिर गिरा सोने का भाव, 46,470 रुपये में खरीदें 10 ग्राम, जानिए अपने शहर का रेट

Gold Price Today

Gold Price Today: सोने और चांदी के रेट रोजाना दाम घटते और बढ़ते रहते हैं. पिछले दो दिनों से हो रही गिरावट के बाद आज फिर से सोने के भाव नीचे गिर गए हैं. इसके अलावा चांदी की बात करें तो इसकी चमक बढ़ती ही जा रही है. वहीं आज यानि शुक्रवार को सोने के भाव में 20 रुपये प्रति ग्राम के हिसाब से मामूली गिरावट नजर आई है तो चांदी के रेट में 900 रुपये प्रति किलोग्राम की तेजी देखने को मिली है.

गुड्स रिटर्न से मिली जानकारी के मुताबिक आज यानि बृहस्पतिवार को 22 कैरट वाला सोना 46,470 रुपये और 24 कैरट वाले सोने के दाम 47,470 रुपये प्रति दस ग्राम पर हैं. हालांंकि शहरों के रेट अलग-अलग होते हैं. इसके अलावा चांदी की बात करें तो एक किलों चांदी लेने के लिए आपको आज 65,500 रुपये देने होंगे. दिल्ली, मुंबई, जयपुर और लखनऊ में इसके रेट यही रहते हैं. जबकि चेन्नई, कोयंबटूर औऱ केरल में रेट अधिक रहते हैं.

शहर का नाम22 कैरट (Carrat)24 कैरट (Carrat)
दिल्ली (Delhi)₹46,700₹50,950
लखनऊ (Lucknow)₹45,400₹48,300
जयपुर (Jaipur)₹46,450₹48,350
महाराष्ट्र (Maharashtra)₹45,730₹48,020
मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh)₹45,730₹48,020
हरियाणा (Haryana)₹46,140₹48,450
गुजरात (Gujrat)₹45,690₹47,970
चंदीगढ़ (Chandigarh)₹46,140₹48,450
पश्चिम बंगाल (West Bengal)₹46,300₹48,620
राजस्थान (Rajasthan)₹45,690₹47,970
पुणे (Pune)₹45,730₹48,020

अगर आप अब सोने की शुद्धता जांचना चाहते हैं तो इसके लिए सरकार की ओर से एक ऐप बनाया गया है. बीआईएस केयर ऐप से ग्राहक सोने की शुद्धता की जांच कर सकते हैं. इस ऐप के जरिए आप न सिर्फ सोने की शुद्धता की जांच कर सकते हैं, बल्कि इससे जुड़ी कोई शिकायत भी कर सकते हैं.

इस कारण बढ़ते हैं सोने के रेट

आपको बता दें सोने की कीमत मांग के हिसाब से भी निर्भर रहती है. माना जाता है कि त्योहारों पर जब सोने की मांग बढ़ जाती है तो इसके भाव में भी इजाफा होने की पूरी उम्मीद होती है. लेकिन जब इसका सीजन नहीं होता है और मांग नहीं होती है तो सोने के रेट धड़ाम से नीचे की तरफ गिर जाते हैं.

Business Idea: हर सीजन में चलेगा ये काम, 2 लाख रुपये महीने में पैदा होगा दाम, आज ही शुरुआत करें

ये भी पढ़ें: भारत के अलावा जर्मनी की जनता भी झेल रही ‘महंगाई की मार’, जानिए इसके पीछे का असली कारण