comscore
Thursday, February 9, 2023
- विज्ञापन -
HomeबिजनेसHydrogen Train: अब भारत में भी चलेगी बिना बिजली और तेल के ट्रेन, जानें कब और किस रूट से होगी शुरूआत?

Hydrogen Train: अब भारत में भी चलेगी बिना बिजली और तेल के ट्रेन, जानें कब और किस रूट से होगी शुरूआत?

Published Date:

Hydrogen Train: देश के ग्रीन एनर्जी को बढ़ावा देने के लिए इंडियन रेलवे (Indian Railways) हाइड्रोजन ट्रेन चलाने जा रहा है. हाइड्रोजन ट्रेन 1950-60 दशक के ट्रेनों को रिप्लेस करेंगी. रेल मंत्रालय ने जानकारी दी है कि हाइड्रोजन ट्रेन (Hydrogen Train) को शुरुआत में देश के अलग-अलग 8 रूटों पर चलाया जाएगा, जिसे दिसंबर 2023 तक शुरू किया जा सकता है. आइए जानते हैं यह हाइड्रोजन ट्रेन कौन-कौन से रूटों पर चलाई जाएंगी. 

वंदे मेट्रो के नाम से होगी Hydrogen Train 

सरकार ने हाइड्रोजन ट्रेन को लेकर एक खास प्लानिंग की है. सरकार ने Hydrogen for Heritage नाम से एक प्रोजेक्ट शुरू किया है, जिसके तहत इन ट्रेनों को हेरिटे्ज रूटों पर चलाया जाएगा. रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव (Ashwani Vaishnav) ने कहा कि इन ट्रेनों के चलने से देश ग्रीन एनर्जी की दिशा में और आगे बढ़ेगा. इससे पहले केंद्रीय मंत्री ने कहा था कि नव-निर्मित हाइड्रोजन-संचालित ट्रेनों को वंदे मेट्रो कहा जाएगा. रेल मंत्री ने कहा, ‘हम दिसंबर 2023 से धरोहर मार्गों पर हाइड्रोजन ट्रेन शुरू करेंगे. इसका मतलब यह होगा कि ये धरोहर मार्ग पूरी तरह से हरित हो जाएंगे.’

ज़रूर पढ़े : व्यपार और प्यार में कैसा है आपका वास्तु, डेली अपडेट्स !

Hydrogen Train

इन रूट्स पर चलेंगी हाइड्रोजन ट्रेन

हाइड्रोजन ट्रेन को माथेरान हिल, दार्जिलिंग हिमालयन, कालका शिमला, कांगड़ा घाटी, बिलमोरा वघई, महू पातालपानी, नीलगिरी माउंटेन रेलवे और मारवाड़-देवगढ़ मड़रिया पर चलाया जाएगा. बाद में दूसरे अन्य रूटों के लिए चलाया जाएगा. 

पीएम मोदी ने किया था मिशन का एलान

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त, 2021 को औपचारिक रूप से अक्षय ऊर्जा से कार्बन मुक्त ईंधन पैदा करने की योजना में तेजी लाने के लिए एक राष्ट्रीय हाइड्रोजन मिशन शुरू करने की घोषणा की थी और भारत के लिए ऊर्जा में आत्मनिर्भरता हासिल करने के लिए 2047 का लक्ष्य निर्धारित किया था।

Hydrogen Train का इतिहास

भारत ऐसा करने वाला पहला देश नहीं है. इससे पहले जर्मनी और चीन में यह ट्रेन चल रही है. जर्मनी में इस साल जुलाई में हाइड्रोजन ट्रेन चलाई गई थी. इसकी कुल अनुमानित कुल लागत 86 मिलियन डॉलर है. यह 140 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से एक बार में 1000 किमी चल सकती है. इसका 2018 में टेस्टिंग की गई थी. 

वहीं चीन ने भी हाल ही में एशिया की पहली हाइड्रोजन से चलने वाली ट्रेन लॉन्च की है, जो एक बार टैंक फुल होने पर 600 किमी की दूरी तय करती है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हाइड्रोजन से चलने वाली इस ट्रेन की टॉप स्पीड 160 किमी प्रति घंटा है. 

ये भी पढ़ें: Indian Railway Rules- अगर छूट गया है ट्रेन में आपका सामान तो ऐसे पाएं वापस, जानें पूरी प्रक्रिया

मिस न करें : ज़िन्दगी जीने और स्वस्थ रहने के सटीक उपाय

Don’t Miss : यहाँ है क्रिकेट का अड्डा, पाएं खेल सम्बन्धी लेटेस्ट अपडेट

Punit Bhardwaj
Punit Bhardwaj
पुनीत भारद्वाज एक उभरते हुए पत्रकार हैं और The Vocal News Hindi में बतौर Sub-Editor कार्यरत हैं। उनकी रुचि बिजनेस,पॉलिटिक्स और खेल जैसे विषयों में हैं और इन विषयों पर वह काफी समय से लिखते आ रहे हैं। उन्होंने अपनी जर्नलिज्म की पढ़ाई AAFT से की है।
- विज्ञापन -

ताजा खबरें

अन्य सम्बंधित खबरें

Kia Seltos Facelift और Honda की नई कार Hyundai Creta के उड़ा देगी तोते

Kia Seltos Facelift को भारतीय मार्केट में जल्द ही...

Odysse Electric Scooter: धांसू रेंज के साथ लॉन्च हुआ ये शानदार ई-स्कूटर, जानें कीमत

Odysse Electric Scooter: भारतीय मार्केट में कई बेहतरीन इलेक्ट्रिक...

Maruti Suzuki Ignis और Ciaz खरीदने पर 45 हजार तक की बचत, जानें ऑफर

Maruti Suzuki की कई बेहतरीन गाड़ियां भारतीय मार्केट में...

Maruti Suzuki Baleno और XL6 में अब मिलेंगे ये नए फीचर्स, कंपनी ने कर दिया अपडेट

Maruti Suzuki की कई धांसू कार्स भारतीय बाजार में...

Renault Duster: नए लुक में एंट्री मारेगी ये धांसू कार, मिलेगा जबरदस्त पॉवरट्रेन

Renault Duster: Renault Motors की कई बेहतरीन गाड़ियां भारतीय...

Weather Update:कश्मीर से उत्तराखंड तक बर्फबारी का अलर्ट, जानें दिल्ली, नोएडा और UP में कैसा रहेगा मौसम का हाल

Weather Update:दिल्ली-एनसीआर, नोएडा. उत्तर प्रदेश, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा समेत...

Tulsi mata: इनमें से किसी भी दिन ना छुएं तुलसी का पौधा, वरना हो जाएगा अनर्थ

Tulsi mata: हिंदू धर्म में तुलसी को बेहद पूजनीय...