comscore
Sunday, November 27, 2022
- विज्ञापन -

Railway के ये नए नियम आपके लिए जानना क्यों है बहुत जरूरी ? पढ़ें

Published Date:

Indian Railways Travel Rules: भारत में लंबी दूरी की यात्रा करने के लिए लोग आज भी ट्रेन के सफर को प्राथमिकता देते हैं. लेकिन अक्सर ऐसा देखा जाता है कि यात्रा करने वाले अधिकतर यात्रियों को रेलवे (Indian Railway) के न‍ियमों के बारे में व‍िस्‍तार से जानकारी नहीं होती. आज आपको ऐसे ही नियमों के बारे में बताने वाले हैं जिन्हें आपका जानना बेहद जरूरी है.

थर्ड एसी या स्‍लीपर में नियम

जब भी आप एसी थर्ड क्‍लॉस या स्‍लीपर में यात्रा करते हैं तो मिडिल बर्थ को लेकर सबसे ज्‍यादा प्रॉब्‍लम होती है. देखने में आता है क‍ि लोअर बर्थ वाला यात्री देर रात तक अपनी सीट पर बैठा रहता है, ऐसे में मिडिल बर्थ वाला यात्री आराम करने के ल‍िए लेट हो जाता है. यह भी सामने आया है क‍ि मिडिल बर्थ वाले यात्री देर रात तक लोअर बर्थ पर बैठे रहते हैं, इस कारण लोअर वाले को परेशानी होती है.

8 घंटे अहम

रेलवे के न‍ियमानुसार रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक आप मिडिल बर्थ को खोल सकते हैं. यानी यद‍ि आपकी लोअर बर्थ है तो रात 10 बजे के बाद म‍िड‍िल बर्थ या अपर बर्थ वाला यात्री आपकी सीट पर नहीं बैठ सकता. आप उसे रेलवे के न‍ियम का हवाला देकर अपनी सीट पर जाने के ल‍िए कह सकते हैं. इसके अलावा यद‍ि द‍िन में मिडिल बर्थ वाला पैसेंजर अपनी सीट खोलता है, तो भी आप उसे रेलवे का न‍ियम बताकर मना कर सकते हैं.

Railway
image credit: Pixabay

TTE नहीं कर सकता चेक

अक्सर यात्री श‍िकायत करते हैं क‍ि सोने के बाद टीटीई टिकट चेक करने के ल‍िए जगा देता है. इससे नींद खराब हो जाती है और परेशानी होती है. यात्रियों की परेशानी दूर करने और सफर को सुविधाजनक बनाने के लिए रेलवे मैन्‍युअल के अनुसार टीटीई रात 10 से सुबह 6 बजे तक यात्रियों के सोने के दौरान टिकट चेक नहीं कर सकता. लेकिन यद‍ि आपकी यात्रा रात 10 बजे के बाद शुरू होती है तो रेलवे का यह न‍ियम लागू नहीं होता. व‍िशेष पर‍िस्‍थ‍ित‍ियों में भी टीटीई 10 बजे के बाद चेक‍िंग कर सकता है.

तेज आवाज में गाने सुनने पर पाबंदी

यात्री अक्‍सर रात में सहयात्री के मोबाइल पर तेज आवाज में गाना सुनने या वीड‍ियो देखने की श‍िकायतें रेलवे बोर्ड से करते रहते हैं. इसको ध्‍यान में रखते हुए रेलवे ने रात 10 बजे के बाद ब‍िना ईयर फोन के गाने सुनने या वीड‍ियो देखने पर पाबंदी लगा रखी है. न‍ियमानुसार आप रात 10 बजे के बाद ब‍िना ईयर फोन के न ही गाना सुन सकते हैं और न ही वीड‍ियो देख सकते हैं. रात में तेज आवाज में बात करना भी अलाउड नहीं है.

यात्री पर हो सकती है कार्रवाई

यद‍ि आपका सहयात्री आपकी बात नहीं मानता तो इसके ल‍िए आप ट्रेन में मौजूद रेलवे स्‍टॉफ से श‍िकायत कर सकते हैं. रेलवे स्‍टॉफ की ज‍िम्‍मेदारी है क‍ि मौके पर आकर आपकी समस्‍या का समाधान करे. यद‍ि सह यात्री फ‍िर भी नहीं मानता तो उस पर रेलवे के न‍ियमों के अनुसार कार्रवाई की जा सकती है.उम्मीद करते हैं ये जानकारी आपको पसंद आई होगी और इसे आप शेयर करेंगे.

ये भी पढें : Railways ने कर्मचारियों की ट्रांसफर – पोस्टिंग की समस्या का किया समाधान, किया ये बड़ा निर्णय, पढ़ें

Dushyant Kumar
Dushyant Kumarhttp://hindi.thevocalnews.com
दुष्यंत कुमार The Vocal News में बतौर Senior Sub Editor कार्यरत हैं. दुष्यंत को राजनीति और बिजनेस पर लिखना अच्छा लगता है. इन्होंने अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय से की है.
- विज्ञापन -

ताजा खबरें

अन्य सम्बंधित खबरें

Petrol Diesel Price Update: क्यों नहीं घट रहे पेट्रोल-डीजल के दाम? जानिए इसके पीछे का कारण और आज के भाव

Petrol Diesel Price Update:सरकारी तेल कंपनियां पेट्रोल-डीजल के नए...