बिहार सरकार का बड़ा फैसला, 15 नवंबर से खुलेंगे आंगनवाड़ी केंद्र एवं छोटे बच्चों के विद्यालय

Nitish kumar
Image Credit: Nitish kumar/ Twitter

बिहार (Bihar) की सरकार ने आज यानि शुक्रवार को एक बड़ा फैसला लिया है. कोरोना वायरस के कारण बंद पड़े सभी आंगनवाड़ी केंद्र एवं छोटे बच्चों के विद्यालय को अब एक बार फिर 15 नवंबर से खोलने का निर्णय लिया गया है. इस बात की घोषणा मुख्यमंत्री नीतिश कुमार (Nitish Kumar) ने की है. हालांकि स्कूलों को कोरोना के प्रोटोकॉल का पालन करना पड़ेगा.

प्रदेश में कोरोना की स्थिति का विश्लेषण करने के बाद ही स्कूल को दोबारा से खोलने का फैसला लिया गया है. बिहार में कक्षा 1 से 8 तक के छात्रों के लिए 16 अगस्त से स्कूल फिर से खुल गए हैं. राज्य सरकार के आदेश के अनुसार कक्षा 9 से 12 तक के स्कूल भी 50 प्रतिशत छात्रों की उपस्थिति के साथ फिर से खोल दिए गए हैं. अब छोटे बच्चों के स्कूलों को खोलने का निर्णय लिया गया है. आपको बता दें कि कोरोना के कारण पिछले लंबे से छोटे बच्चों के स्कूल बंद हैं.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने आज ट्वीट कर लिखा है कि कोरोना महामारी संबंधी प्रतिबंधों के सकारात्मक परिणाम आए हैं. आज स्थिति की समीक्षा कर 15 नवंबर, 2021 तक सभी आंगनवाड़ी केंद्र एवं छोटे बच्चों के विद्यालय को खोलने का निर्णय लिया गया है.

इससे बाद वह लिखते हैं कि आगामी त्योहारों के दौरान जुलूस तथा भीड़ प्रबंधन हेतु जिला प्रशासन आदेश करेंगे. कोरोना संक्रमण के ज्यादा मामले वाले राज्यों से आने वाले यात्रियों की अनिवार्य कोविड जांच कराई जाएगी. फिर वह कहते हैं कि सभी पात्र व्यक्तियों का टीकाकरण कराया जाएगा. पूर्व के शेष निर्णय जारी रहेंगे. अभी भी कोविड अनुकूल व्यवहार और सावधानी जरूरी है.

ये भी पढ़ें: संसद में काम करने का है मन तो फटाफट करें आवेदन, इन पदों पर निकली भर्तियां