Sarkari Naukri 2022: यूपी में लगी है आचार संहिता, जानिए अब आगे कब औऱ किन पदों पर होंगी सरकारी भर्तियां

Exit Poll Banned
Image credit: wikimedia

Sarkari Naukri 2022: हम सभी इस बात से भली भांति परिचित हैं कि आजकल युवा सरकारी नौकरी पाने के लिए कितनी मेहनत कर रहे हैं. ताकि वह सरकारी नौकरी पाकर अपनी आगे की जिंदगी आराम से बिता सकें. इसी के चलते तमाम युवा राज्य सरकारों द्वारा विभिन्न सरकारी विभागों में की जाने वाली भर्तियों का लंबे समय तक इंतजार करते रहते हैं. लेकिन इस वर्ष जब यूपी, उत्तराखंड, गोवा, पंजाब और मणिपुर आदि राज्यों में चुनाव होने वाले हैं, तो ऐसे में इन राज्यों में चुनाव के मद्देनजर आचार संहिता लागू कर दी गई है.

जिसके बाद अब इन राज्यों में किसी भी भर्ती का विज्ञापन जारी नहीं होगा, ऐसे में हमारे आज के इस लेख के माध्यम से हम आपको उत्तर प्रदेश राज्य में आचार संहिता के बाद होने वाली बड़ी भर्तियों की जानकारी देने वाले हैं. जिसके आधार पर आप इन भर्तियों के लिए अपनी तैयारी की योजना बना सकते हैं.

सबसे पहले चलिए जान लेते हैं कि क्या होती है आचार संहिता?

चुनाव आयोग द्वारा चुनाव के संबंध में कुछ विशेष नियम और कानून बनाए जाते हैं. जिसका पालन सभी नेताओं और राजनैतिक दलों को करना होता है. इन्हीं नियमों को आचार संहिता कहा जाता है. जिसके लागू होने के बाद राज्य में शिलान्यास या लोकार्पण से जुड़े कार्यक्रम, सार्वजनिक धन, सरकारी गाड़ियों और संपत्ति का राजनैतिक दलों के प्रचार प्रसार में प्रयोग, नई सरकारी भर्तियां आदि पर रोक लग जाती है. इसे चुनाव की तारीखों का एलान होने के बाद लागू कर दिया जाता है.

यह भी पढ़े:- 5 राज्यों में कब, कितने फेज और कितनी सीटों पर लड़े जाएंगे चुनाव

ऐसे में अब जब उत्तर प्रदेश समेत 5 राज्यों में चुनावों की तारीखों का एलान हो चुका है, तो अब यहां कोई सरकारी भर्ती नहीं होगी. लेकिन उत्तर प्रदेश जोकि राजनीति और जनसंख्या के हिसाब से काफी महत्वपूर्ण प्रदेश हैं. यहां आचार संहिता के बाद निम्न आवश्यक पदों पर सरकारी भर्तियां होंगी. जिनके बारे में नीचे हम आपको बताने जा रहे हैं.

  1. उत्तर प्रदेश में होमगार्ड के करीब 38 हजार और कांस्टेबल के 26210 पदों पर भर्ती होनी है.
  2. यहां आचार संहिता के हटने के बाद प्राइमरी और जूनियर शिक्षकों के भी 35 से 50 हजार पदों पर भर्ती होनी है. जिसका अभ्यर्थियों को बेसब्री से इंतजार है.
  3. साथ ही परिषदीय विद्यालयों में रिक्त रह गए 17000 पदों पर भी भर्ती लटकी हुई हैं. जबकि 69000 शिक्षक भर्ती में केवल 6800 शिक्षक ही अब तक नियुक्त किए गए हैं, बाकी को भी चुनाव बाद नियुक्ति मिलने का आसार है.
  4. यूपीएसएसएससी (UPSSC) द्वारा गन्ना पर्यवेक्षक के लगभग 2500 पदों, कनिष्ठ सहायक और आशुलिपिक के भी कई पदों पर भर्तियां होने वाली हैं.
  5. इसके अलावा, प्रदेश में करीब 2000 पदों पर प्रयोगशाला प्राविधिज्ञ और एक्सरे प्राविधिक रखें जाएंगे.
  6. उत्तर प्रदेश में समूह ग के करीब 25 हजार से अधिक पद भरे जाएंगे. साथ ही आंगनबाड़ी और आशा कार्यकर्ताओं की भी भर्ती और प्रमोशन का दांव पेंच सरकारी कागजों में फंसा हुआ है,
  7. प्रदेश में लेखपाल के भी 7882 पदों पर भर्तियां होनी हैं, हालांकि इसका विज्ञापन जारी किया जा चुका है.
  8. इसके अलावा, वन्य रक्षक, सहायक सांख्यिकी अधिकारी, सहायक शोध अधिकारी, अवर अभियंता, सहायक बोरिंग टेक्नीशियन आदि कई पदों पर भर्ती की जानी है. उम्मीद है आचार संहिता हटते ही उपरोक्त सभी पदों पर भर्तियां की जाएंगी.