NCERT की किताबों में नॉर्थ ईस्ट के चैप्टर को लेकर Twitter पर चलाए जा रहे हैं हैशटैग

Image credit: pixabay

NCERT की किताबों में नॉर्थ-ईस्ट के चैप्टर शामिल करवाने के लिए मुहिम तेज हो गई है। शुक्रवार को शाम 6 से 8 बजे तक ट्विटर पर ट्विटर स्टॉर्म चलाया गया, ये ट्विटर स्टॉर्म नॉर्थ-ईस्ट स्टूडेंट्स ग्रुप्स ने चलाया, #NortheastMatters और #AchapterforNE हैशटैग से चलाए गए इस स्टॉर्म का उद्देश्य NCERT की किताबों में नॉर्थ-ईस्ट को लेकर एक अलग से चैप्टर शामिल करवाना है जिससे की देशभर में बाकी लोगों को नॉर्थ ईस्ट का इतिहास, जीवनशैली और देशभक्ति के बारे में पता चल सके, साथ ही देशभर में नॉर्थ ईस्ट के स्टूडेंट्स के साथ होने वाली रेसिज़्म की घटना को लेकर भी ये स्टॉर्म चलाया गया।

Image credit: ncert

क्या है नॉर्थ-ईस्ट के लोगों का पूरा मामला?

अक्सर नॉर्थ ईस्ट साइड को भारत से भिन्न समझा जाता है क्योंकि लोगों में जानकारी का अभाव है, नॉर्थ ईस्ट के लोगों को लगता है कि भारत में उनसे भेदभाव किया जाता है क्योंकि अक्सर जानकारी की कमी की वजह से नॉर्थ ईस्ट को भारत से अलग कर दिया जाता है इसलिए लोगों ने तय किया कि नॉर्थ ईस्ट के स्टूडेंट्स के साथ होने वाली रेसिज़्म की घटनाओं पर और NCERT में नॉर्थ ईस्ट को लेकर एक चैप्टर को शामिल करने की मांग की जाएगी.

Image credit: pixabay

30 से ज़्यादा स्टूडेंट्स यूनियन ने लिया हिस्सा

इस ट्विटर स्टॉर्म में देशभर के 30 स्टूडेंट्स यूनियन और ऑर्गनाइज़ेशन शामिल हुए. इस मूवमेंट का नाम ‘A Chapter for NE’ रखा गया जिससे की देशभर में NCERT की किताबों से लोगों को नॉर्थ-ईस्ट राज्य का इतिहास, जीवनशैली, लाइफस्टाइल और देशभक्ति के बारे में पता चल सके।

Image credit: pixabay

AASUC के प्रेसिडेंट का समर्थन

ऑल अरुणाचल स्टूडेंट्स यूनियन चंडीगढ के प्रेसिडेंट लिंग्डम केम ने इस स्टार्म को लेकर ANI से बात की उन्होंने कहा कि राज्य के बाहर हमारे स्टूडेंट्स को रेसिज़्म की घटनाएं झेलनी पड़ती हैं।

यह भी पढ़ें: NIOS Exam: एनाईओएस ने रद्द की कक्षा 12 वीं बोर्ड परीक्षा