पैसों की कमी के कारण नहीं करना चाहते थे Neha Kakkar के माता-पिता उन्हे पैदा, जानिए कहानी उनके संघर्ष की

Neha Kakkar
Image credit: Neha Kakkar/Instagram

म्यूजिक इंडस्ट्री की मशहूर सिंगर नेहा कक्कड़ ने पिछले साल 6 जून 2020 को अपने जन्मदिन पर अपनी जिंदगी के संघर्ष को संगीत के द्वारा बयां किया था। उन्होंने ने इस गाने में बताया था की वों ऋषिकेश के एक गरीब परिवार में जन्मी थी, उन्होंने अपने स्ट्रगल से लेकर सफलता की जर्नी को रैप के माध्यम से पेश किया था।

इस वीडियो मे नेहा कक्कड़ ने कुछ ऐसे खुलासे किए थे, जैसे कि उनके जन्म के वक्त जब उनके माता-पिता के पास पैसों की तंगी थी जिसके के कारण उन्होंने नेहा को पैदा न करने का फैसला लिया था, लेकिन गर्भ 8 हफ्ते का था इसलिए उन्हे मजबूरन नेहा को इस दुनिया में लाना पड़ा। नेहा और उनके भाई टोनी का जीवन जागरण से शुरू हुआ था और अब वें इंडिया के बेस्ट सिंगर के लिस्ट में आते हैं।

नेहा के गानों की शुरुवात
नेहा ने चार साल की उमर से ही गाना गाना शुरू कर दिया था।उनकी बड़ी बहन सोनू कक्कड़ भी उनके साथ गाने गाया करती थी।पैसों की तंगी के वजह से वें दोनों माता की जागरण में गाना गाया करती थी।

पिता का संघर्ष
नेहा अपने घर की हालत अच्छे से जानती थी इसलिए वह पूरी रात अपनी बहन सोनू के साथ जागरण में गाया करती थी। उनके पिता की समोसे की दुकान थी। जिसमें उनके पिता घर चलाने के लिए काफी मेहनत किया करते थें।

मशहूर रियलिटी सिंगिंग शो इंडियन आइडल में नेहा ने हिस्सा लिया था, लेकिन वह जीत नहीं पाई पर आज वह करोड़ों लोगों के दिलों को जीत चुकी हैं।

यह भी पढ़ें: Neha Kakkar की शादी के बाद पहली होली, वीडियो में पूल में मस्ती करती दिखीं सिंगर