पुडुचेरी में गिरी कांग्रेस सरकार, सीएम नारायणसामी बोले- 'ये लोकतंत्र की हत्या है'

  
पुडुचेरी में गिरी कांग्रेस सरकार, सीएम नारायणसामी बोले- 'ये लोकतंत्र की हत्या है'

पुडुचेरी के राजनीतिक संकट का सोमवार को समापन हो गया. विधानसभा में बहुमत साबित न कर पाने के कारण कांग्रेस मुख्यमंत्री वी नारायणसामी की सरकार गिर गई. पुडुचेरी की उपराज्यपाल के आदेश पर सोमवार को वी नारायणसामी को सदन में बहुमत साबित करना था.

इस दौरान मुख्यमंत्री ने अपने भाषण में केंद्र सरकार और पूर्व उपराज्यपाल किरण बेदी पर गंभीर आरोप लगाया. वोटिंग से पहले ही कांग्रेस और डीएमके के विधायकों ने सदन से वॉकआउट कर दिया, जिसके बाद स्पीकर ने ऐलान किया कि सरकार बहुमत साबित करने में विफल रही है.

मुख्यमंत्री नारायणसामी के भाषण में झलका दर्द

नारायणसामी ने कहा, ‘हमने द्रमुक और निर्दलीय विधायकों के समर्थन से सरकार बनाई थी। इसके बाद हमने कई चुनाव देखे। सभी उपचुनावों में हमने जीत दर्ज की। एक बात साफ हो चुकी है कि पुडुचेरी के लोगों का हम पर भरोसा है।’

सीएम ने अपने भाषण में कहा कि विधायकों को अपनी पार्टी के प्रति वफादार रहना चाहिए. उन्होंने कहा कि इस्तीफा देने वाले विधायक जनता का सामना नहीं कर पाएंगे. उन्हें लोग अवसरवादी कहेंगे. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी और पूर्व एलजी किरण बेदी ने हमे दबाने की कोशिश की लेकिन फिर भी हम लोगों के हित में काम करने में सक्षम बने रहे.

6 विधायकों के इस्तीफे से संकट गहराया था

हाल ही में कांग्रेस के चार विधायकों के इस्तीफे के बाद सरकार पर संकट के बादल गहरा गए थे. इसके बाद उपराज्यपाल तमिलिसाई सौंदरराजन ने सरकार को बहुमत साबित करने को कहा था. फ्लोर टेस्ट से एक दिन पहले ही रविवार को कांग्रेस और गठबंधन में शामिल DMK के एक-एक विधायक ने और इस्तीफा दे दिया, इसके बाद नारायणसामी सरकार अल्पमत में आ गई.

ये भी पढें: CorornaVirus: देश में कोरोना ने फिर से पसारे पैर, महाराष्ट्र दोबारा से एक हफ्ते के लिए लॉक

Tags

Share this story

Around The Web

अभी अभी