हिमाचल के 6 बार सीएम रहे वीरभद्र सिंह का 87 वर्ष की आयु में निधन, दो बार हुआ था कोरोना

image credits: Instagram

हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता वीरभद्र सिंह का लंबी बीमारी से जूझने के बाद गुरुवार तड़के निधन हो गया. कांग्रेस नेता वीरभद्र सिंह ने 87 साल की उम्र में इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल, शिमला में आखिरी सांस ली. इस अस्पताल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ जनक राज ने उनके निधन की पुष्टि की और अब वीरभद्र सिंह के शव को IGMC से उनके आवास होलीलाज ले जाया गया.

दो बार हुए कोरोना पॉज़िटिव

गौरतलब है वीरभद्र सिंह 13 अप्रैल को पहली बार कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे, जिसके बाद उन्हें मोहाली के मैक्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था. ठीक होने के बाद 23 अप्रैल को उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल गई थी.. इसके कुछ दिन बाद ही उन्हें सांस लेने में दिक्कत होने लगी, जिसके बाद आईजीएमसी में भर्ती कराया गया, जहां 11 जून को फिर कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई. दूसरी बार भी वे कोविड-19 से ठीक हो चुके थे.

छह बार सीएम रहे

वीरभद्र सिंह छह बार हिमाचल के मुख्यमंत्री रहे हैं. वीरभद्र सिंह यूपीए सरकार में भी केंद्रीय कैबिनेट मंत्री रह चुके थे. उनके पास केंद्रीय इस्पात मंत्रालय रहा. इसके अलावा सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग मंत्रालय भी रह चुका है. वीरभद्र सिंह का जन्म 23 जून, 1934 को बुशहर रियासत के राजा पदम सिंह के घर में हुआ. वीरभद्र सिंह ने 1962 में, वर्ष 1983 से 1990, 1993 से 1998, 1998 में कुछ दिन तक तीसरी बार, फिर 2003 से 2007 और 2012 से 2017 में हिमाचल के मुख्यमंत्री रहे. लोकसभा के लिए पहली बार वे 1962 में चुने गए.

ये भी पढ़ें: भारतीय इतिहास का सबसे बड़ा कैबिनेट विस्तार: 43 मंत्रियों की शपथ, देखें पूरी लिस्ट