उत्तराखंड अधिवेशन में NAC ने भरी न्याय की हुंकार, कहा-‘पेंशनर्स की बढ़ती मृत्यु पर संज्ञान ले सरकार’

Uttarakhand convention

काशीपुर (उत्तराखंड): EPS-95 पेंशनर्स के लिए राष्ट्रीय स्तर पर संघर्ष कर रहे संगठन NAC के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमांडर अशोक राऊत के नेतृत्व में उत्तराखंड में आयोजित भव्य व दिव्य अधिवेशन आयोजित हुआ. इस अधिवेशन में कुमायू व गढ़वाल सहित उत्तराखंड के सभी जिलों के 700 से अधिक प्रतिनिधि उपस्थिति रहे.

पेंशनर्स की दशा व मांगों को शीघ्र पूर्ण करवाने के लिए NAC की भूमिका आदि विषयों पर फ़ैसला लिया गया.
इस दौरान मुख्य मार्गदर्शक NAC चीफ कमांडर अशोक राऊत ने कहा कि ‘यह समय हमारे लिए अनुकूल है लेकिन हम सभी को और अधिक जागरूक रहने व वर्तमान व भविष्य में संगठन द्वारा चलाए जानें वाले सभी कार्यक्रमों में प्रत्येक पेंशनर के सहयोग व सहभाग की आवश्यकता है’.

वहीं उत्तराखंड के प्रांतीय अध्यक्ष सरदार सुरेंद्र सिंह ने कहा कि भले ही प्रधानमंत्री ने हमें दोबारा आश्वासन दिया हो, इसके लिए हम उनके और हेमा मालिनी जी के प्रति कृतज्ञ है. इस अधिवेशन के माध्यम से हम पीएम मोदी से निवेदन करते हैं कि पेंशनर्स की बढ़ती हुई मृत्यु दर को देखते हुए अब और अधिक इंतजार न करवाए व दिनांक 15 अक्टूबर 2021 के पहले हमारी 4 सूत्रीय मुख्य मांगों को मंजूर कर हमें न्याय प्रदान करें.

नारी शक्ति के संगठन विस्तार पर दिया जोर

संगठन की महिला प्रतिनिधि जयश्री किवलेकर व सौ सरिता नारखेड़े ने अपने भाषण में नारी शक्ति के संगठन विस्तार पर विशेष जोर देकर कहा कि महिला शक्ति NAC को विजय दिलाने में सहायक सिद्ध होगी. प्रान्तीय महासचिव श्री सुरेश डंगवाल ने अपने भाषण में आयोजन के महत्व, कर्मचारियों की एकता का महत्व, संगठन के लिए समयदान व अंशदान पर बल दिया.

इस दौरान सरदार सुरेंद्र सिंह जी, प्रान्तीय अध्यक्ष उत्तराखंड, सुरेश डंगवाल, प्रान्तीय महासचिव भी इस अधिवेशन में मौजूद रहे. इसके अलावा NAC नेता एन.डी.जोशी, चम्पावत, एल.डी.जोशी, टनकपुर, मनोहर जेटी एवं बोराजी अध्यक्ष पिथौरागढ़ आदि उपस्थित रहे.

ये भी पढ़ें: लक्ज़री गाड़ियां, महंगे मोबाइल…नरेंद्र गिरी के शिष्य की लाइफस्टाइल उड़ा देगी होश