PM Modi ने हीराबेन के 100वें जन्मदिन पर लिखा भावुक ब्लॉग, कहा ‘मां दूसरों के घर बर्तन भी मांजा करती थीं’

PM Modi wrote an emotional blog on Heeraben's 100th birthday, saying 'mother used to wash utensils at the homes of others'
Image credits: narendramodi.in

आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) की मां हीराबेन का 100वां जन्मदिन है. इस अवसर पर हर बार की तरह इस बार भी PM Modi गांधीनगर पहुंचे जहाँ उन्होंने अपनी मां के पैर पखारे. हीराबेन ने भी अपने जन्मदिन पर मिलने पहुंचे बेटे का मुंह मीठा कराया और उन्हें आशीर्वाद दिया. आपको बता दें की PM Modi ने इस मौके पर एक बेहद भावुक ब्लॉग पोस्ट भी लिखा है जिसमे उन्होंने मां से जुड़ी अपने बचपन की यादों को साझा किया है. PM मोदी ने लिखा:

”मेरी मां, हीराबा आज 18 जून को अपने सौवें वर्ष में प्रवेश कर रही हैं. यानी उनका जन्म शताब्दी वर्ष प्रारंभ हो रहा है. पिताजी आज होते, तो पिछले सप्ताह वो भी 100 वर्ष के हो गए होते. यानि 2022 एक ऐसा वर्ष है जब मेरी मां का जन्मशताब्दी वर्ष प्रारंभ हो रहा है और इसी साल मेरे पिताजी का जन्मशताब्दी वर्ष पूर्ण हुआ है.

मेरी मां का जन्म, मेहसाणा जिले के विसनगर में हुआ था. वडनगर से ये बहुत दूर नहीं है. मेरी मां को अपनी मां यानी मेरी नानी का प्यार नसीब नहीं हुआ था. एक शताब्दी पहले आई वैश्विक महामारी का प्रभाव तब बहुत वर्षों तक रहा था. उसी महामारी ने मेरी नानी को भी मेरी मां से छीन लिया था. मां तब कुछ ही दिनों की रही होंगी. उन्हें मेरी नानी का चेहरा, उनकी गोद कुछ भी याद नहीं है. आप सोचिए, मेरी मां का बचपन मां के बिना ही बीता, वो अपनी मां से जिद नहीं कर पाईं, उनके आंचल में सिर नहीं छिपा पाईं. मां को अक्षर ज्ञान भी नसीब नहीं हुआ, उन्होंने स्कूल का दरवाजा भी नहीं देखा. उन्होंने देखी तो सिर्फ गरीबी और घर में हर तरफ अभाव.

PM Modi writes emotional blog for mother Heeraben
Image credits: narendramodi.in

बचपन के संघर्षों ने मेरी मां को उम्र से बहुत पहले बड़ा कर दिया था. वो अपने परिवार में सबसे बड़ी थीं और जब शादी हुई तो भी सबसे बड़ी बहू बनीं. बचपन में जिस तरह वो अपने घर में सभी की चिंता करती थीं, सभी का ध्यान रखती थीं, सारे कामकाज की जिम्मेदारी उठाती थीं, वैसे ही जिम्मेदारियां उन्हें ससुराल में उठानी पड़ीं. इन जिम्मेदारियों के बीच, इन परेशानियों के बीच, मां हमेशा शांत मन से, हर स्थिति में परिवार को संभाले रहीं.

वडनगर के जिस घर में हम लोग रहा करते थे वो बहुत ही छोटा था. उस घर में कोई खिड़की नहीं थी, कोई बाथरूम नहीं था, कोई शौचालय नहीं था. उस घर में कोई खिड़की नहीं थी, कोई बाथरूम नहीं था, कोई शौचालय नहीं था. कुल मिलाकर मिट्टी की दीवारों और खपरैल की छत से बना वो एक-डेढ़ कमरे का ढांचा ही हमारा घर था, उसी में मां-पिताजी, हम सब भाई-बहन रहा करते थे. उस छोटे से घर में मां को खाना बनाने में कुछ सहूलियत रहे इसलिए पिताजी ने घर में बांस की फट्टी और लकड़ी के पटरों की मदद से एक मचान जैसी बनवा दी थी. वही मचान हमारे घर की रसोई थी. मां उसी पर चढ़कर खाना बनाया करती थीं और हम लोग उसी पर बैठकर खाना खाया करते थे.

PM Modi writes emotional blog for mother Heeraben
Image credits: narendramodi.in

घर चलाने के लिए दो चार पैसे ज्यादा मिल जाएं, इसके लिए मां दूसरों के घर के बर्तन भी मांजा करती थीं. समय निकालकर चरखा भी चलाया करती थीं क्योंकि उससे भी कुछ पैसे जुट जाते थे. कपास के छिलके से रूई निकालने का काम, रुई से धागे बनाने का काम, ये सब कुछ मां खुद ही करती थीं. उन्हें डर रहता था कि कपास के छिलकों के कांटें हमें चुभ ना जाएं.”

Vastu Tips: वास्तु की ये 5 चीजें कराएगी धन का लाभ Amarnath Yatra 2022: अमरनाथ यात्रा पर जाते समय ध्यान रखें ये जरूरी बातें… KGF Chapter 2 to RRR: इन पैन इंडिया फिल्मों का बजट आपको हैरान कर देगा Shubhi Sharma: जानिए ‘भोजपुरी एक्ट्रेस’ की नेट वर्थ और उनकी लाइफ से जुड़ी अनसुनी बातें Alia Bhatt, Ranbir Kapoor Wedding Gifts – महंगी डायमंड रिंग से लेकर 2.5 करोड़ रुपये की घड़ी Pooja Hooda: ‘हरयाणवी एक्ट्रेस’ पूजा हुड्डा की नेट वर्थ आप सभी को हिला कर रख देगी Alia Bhatt, Ranbir Kapoor wedding: पावर कपल के नए रिश्तेदारों की लिस्ट – Sara Ali Khan से Kareena Kapoor तक KGF Chapter 2 released: यश स्टारर फिल्म ने तोड़े ये रिकॉर्ड, RRR को भी पछाड़ा Amrapali Dubey : जानिए कितना कमाती हैं ‘भोजपुरी एक्ट्रेस’ आम्रपाली दुबे और क्या है उनकी नेट वर्थ ये कारें आती हैं दो से ज़्यादा एयरबैग्स के साथ, कीमत 10 लाख से कम – Kia Seltos से Maruti Suzuki Baleno तक