comscore
Wednesday, February 1, 2023
- विज्ञापन -
HomeभारतParakram Diwas 2023 पर प्रधानमंत्री मोदी देंगे शहीदों को खास ट्रिब्युट, राष्ट्रीय स्मारक मॉडल का करेंगे उद्घाटन

Parakram Diwas 2023 पर प्रधानमंत्री मोदी देंगे शहीदों को खास ट्रिब्युट, राष्ट्रीय स्मारक मॉडल का करेंगे उद्घाटन

Published Date:

Parakram Diwas 2023: नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती यानी पराक्रम दिवस के उपलक्ष्य में देशभर में समारोह आयोजित किए जाएंगे. इसी कड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी 23 जनवरी को नेताजी सुभाषचन्द्र बोस की जयंती समारोह (Parakram Diwas 2023) के उपलक्ष्य में अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के 21 सबसे बड़े अनाम द्वीपों का नामकरण वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरीए करेंगे. बता दें कि ये पहली बार है जब देश में इतने बड़े स्तर पर सुभाषचन्द्र बोस की जयंती मनाई जा रही है.

राष्ट्रीय स्मारक मॉडल का होगा उद्घाटन

पीएमओ द्वारा जारी नोटीस में बताया गया कि नेताजी की जयंती(Parakram Diwas 2023) पर प्रधानमंत्री द्वारा अंडमान और निकोबार समूह के नेताजी सुभाषचन्द्र बोस द्वीप पर बने राष्ट्रीय स्मारक मॉडल का उद्घाटन किया जाएगा .बता दें कि अपनी 2018 की यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने Ross Island का नामकरण नेताजी के नाम पर किया था. वहीं Neil Island का नाम शहीद द्वीप और Havelock Island का नाम स्वराज द्वीप किया गया था.

इससे पहले शहीदों को श्रद्धांजली देने के लिए प्रधानमंत्री द्वारा अंडमान और निकोबार के 21 अनाम द्वीपों का नामकरण 21 परमवीर चक्र से सम्मानित हीरोज पर किया जाएगा.देश के पहले परमवीर चक्र विजेता से लेकर इक्कीसवें विजेता तक इन द्वीपों का नामकरण होगा.

क्यों मनाया जाता है Parakram Diwas?

आजाद हिंद फौज के संस्थापक और आजादी के महानायक नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के जन्मदिवस 23 जनवरी को हर साल पराक्रम दिवस के रूप में मनाया जाता है. नेताजी ने आजाद हिंद फौज की स्थापना कर लोगों में स्वतंत्रता के प्रति चेतना जगाने का काम किया. यही कारण है कि उनकी देश के प्रति निस्वार्थ सेवा को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार ने उनके जन्मदिन को ‘पराक्रम दिवस’ के रूप में मनाने का फैसला किया है. भारत के प्रधानमंत्री द्वारा 2021 में नेताजी के जन्मदिन को पराक्रम दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की गई थी.

ये भी पढ़ें- Joshimath Sinking: भू-धंसाव से प्रभावित परिवारों को मिलेंगे 1.5 लाख रुपए, और इन्हें दिया जाएगा मुआवजा

Punit Bhardwaj
Punit Bhardwaj
पुनीत भारद्वाज एक उभरते हुए पत्रकार हैं और The Vocal News Hindi में बतौर Sub-Editor कार्यरत हैं। उनकी रुचि बिजनेस,पॉलिटिक्स और खेल जैसे विषयों में हैं और इन विषयों पर वह काफी समय से लिखते आ रहे हैं। उन्होंने अपनी जर्नलिज्म की पढ़ाई AAFT से की है।
- विज्ञापन -

ताजा खबरें

अन्य सम्बंधित खबरें

EPFO अकाउंट होल्डर के लिए खुशखबरी, सरकार लेने जा रही बड़ा फैसला

EPFO: कर्मचारी भविष्य निधि संगठन पेंशन धारकों के लिये...

WhatsApp आज से इन स्मार्टफोन पर नहीं करेगा काम! जानें क्यों हुआ ये बदलाव

WhatsApp: चैटिंग के लिए सबसे ज्यादा व्हाट्सएप इस्तेमाल किया...