comscore
Monday, December 5, 2022
- विज्ञापन -

Ramnath Kovind Birthday: अपनी सादगी और उच्च नैतिकता के लिए प्रसिद्ध हैं पूर्व राष्ट्रपति कोविंद

Published Date:

Ramnath Kovind Birthday: पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद शनिवार को 77 वर्ष के हो जाएंगे. वह अपनी सादगी, उच्च नैतिकता और उल्लेखनीय दृष्टि के लिए जाने जाते हैं.

एक अक्टूबर, 1945 को उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में परौंख गांव में पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का जन्म हुआ था. उन्होंने 25 जुलाई, 2017 को देश के 14वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली थी.

पूर्व राष्ट्रपति Ramnath Kovind Birthday पर कई नेताओं ने गिनाई अच्छाइयां

समाज के गरीब और वंचित वर्गों को सशक्त बनाने पर कोविंद का ध्यान देना अनुकरणीय है. भारत के 13वें राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के बाद 25 जुलाई 2017 को भारत के 14वें राष्ट्रपति के रूप में कोविंद ने शपथ ग्रहण की थी.

रामनाथ कोविंद का जन्म बेहद साधारण परिवार में हुआ था. उस समय देश अंग्रेजों का गुलाम था. राजनीति में उनकी एंट्री साल 1994 में हुई, जब वह उत्तर प्रदेश से राज्यसभा के लिए चुने गए थे. उनका जीवन संघर्षों से भरा रहा है. कठिनाइयों और चुनौतियों के होने के बावजूद शिक्षा प्राप्त कर रामनाथ कोविंद ने सुप्रीम कोर्ट में वकालत शुरू कर दी.

कोविंद बीजेपी दलित मोर्चा के अध्यक्ष पद की भी जिम्मेदारी संभाल चुके हैं. साथ ही वह ऑल इंडिया कोली समाज के अध्यक्ष रह चुके हैं. साल 2006 तक वह दो बार संसद के ऊपरी सदन के सदस्य रहे. पेशे से वकील कोविंद ने दिल्ली हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में 1प्रैक्टिस भी की. कोविंद, पूर्व प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई के निजी सचिव भी रह चुके हैं. इसके साथ ही बीजेपी ने उन्हें अपना राष्ट्रीय प्रवक्ता भी नियुक्त किया था.

इसे भी पढ़ें: 1 अक्टूबर से देश में दौड़ेगा 5G, पीएम मोदी हाई-स्पीड मोबाइल इंटरनेट सर्विस की करेंगे शुरुआत

Arpit Omer
Arpit Omerhttp://hindi.thevocalnews.com
अर्पित ओमर The Vocal News Hindi में बतौर Senior Sub-Editor कार्यरत हैं. उनकी रुचि बिज़नेस और पॉलिटिक्स में है और इन विषयों पर वह काफी समय से लिखते आ रहे हैं. उन्होंने अपनी जर्नलिज्म की पढ़ाई लखनऊ यूनिवर्सिटी से की है.
- विज्ञापन -

ताजा खबरें

अन्य सम्बंधित खबरें

Chanakya Niti: वास्तव में पाना चाहते हैं अपने जीवन में सफलता, तो हंस से सीखें ये कला

Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य द्वारा व्यक्ति को जीवन में...