तीसरी लहर आने से पहले होगा सीरो सर्वे, ICMR पता करेगा अब तक कितनों में बनी है एंटीबॉडी

Corona Antibody
Image Credit: Pixabay

कोरोना वायरस की तीसरी लहर (Third Wave) को लेकर आईसीएमआर (ICMR) अब चौथ सीरो सर्वे शुरू करेगी. इस सर्वे में यह पता लगाया जाएगा कि कोरोना की दूसरी लहर में अब तक गांव और शहर के कितने लोग संक्रमित हो चुके हैं. साथ ही यह भी पता किया जाएगा कि कितने लोगों में कोरोना से लड़ने की इम्यूनिटी बन गई है और कितनों में इससे लड़ने की क्षमता अभी भी नहीं है.

दरअसल, डॉक्टरों और विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना की तीसरी लहर बच्चों को लेकर काफी खतरनाक है. इसलिए इस बार के चौथे सर्वे में 6 साल की उम्र से अधिक के बच्चे को शामिल किया जाएगा. इस सर्वे में 14,000 वयस्कों (Adult) के साथ 14,000 बच्चों को भी शामिल किया जा रहा है. जिससे यह पता चल सके कि अब तक कोरोना से लड़ने में कितनों लोगों के अंदर इम्यूनिटी बनी हुई है.

ICMR के चौथे सीरो सर्वे में गांवों की बड़ी आबादी को भी शामिल किया जाएगा. जिससे यह पता चले कि कोरोना की की दूसरी लहर में गांवों के कितने लोग संक्रमित हुए हैं. इस सर्वे को गांवों की जनसंख्या को ध्यान में रखकर किया जाएगा. जिससे यह पता चल सके कि अब तक गांव के अंदर कितने लोगों में कोरोना से लड़ने की क्षमता है.

ये होता है सीरो सर्वे

आपको बता दें कि कोरोना को लेकर ICMR इससे पहले तीन सर्वे कर चुकी है. यह उसका चौथा सीरो सर्वे है जो कि तीसरी लहर आने से पहले किया जाएगा. इस सर्वे में ब्लड का सैंपल लिया जाता है इसके बाद देखा जाता है कि व्यक्ति के अंदर कितनी एंटीबॉडी बनी हुई है. साथ ही इससे यह भी पता चलता है कि किसी खास आबादी में अब तक कितने लोग संक्रमित हुए हैं.

ये भी पढ़ें: भारत में मिले कोरोना वैरिएंट्स का WHO ने रखा नया नाम, जानें