रिकॉर्ड टीकाकरण के बाद बीते दिन दर्ज हुई भारी गिरावट, जानें राज्यों का हाल

Corona Vaccination
Image Credits: unsplash

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर यानी सोमवार को देश में रिकॉर्ड 85 लाख से ऊपर टीकाकरण के बाद बीते दिन भारी गिरावट दर्ज की गई. बतादें देश में मंगलवार रात 11 बजे तक के आंकड़ों के मुताबिक, 54 लाख लोगों को टीके की खुराकें मिलीं, जो कि पिछले दिन की तुलना में काफी कम था. हालांकि, यह आंकड़ा अन्य दिनों की तुलना में फिर भी ज्यादा है.

मध्य प्रदेश में पहले दिन के मुकाबले भारी गिरावट

मध्य प्रदेश में नई गाइडलाइन के पहले दिन सोमवार को 1.7 लाख लोगों को वैक्सीन लगाई गई थी लेकिन, मंगलवार को रात 10 बजे तक केवल 68 हजार 370 लोगों को खुराकें दी गईं. दो दिनों के बीच में 96 प्रतिशत गिरावट दर्ज की गई. वहीं, आंकड़ों से पता चलता है कि हरियाणा में मंगलवार को दैनिक टीकाकरण संख्या में 75 प्रतिशत की गिरावट आई, साथ ही दक्षिण भारतीय राज्य कर्नाटक में 61 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई.

कोविन पोर्टल पर कई बार राज्यों के आंकड़े अपडेट होने में समय लगता है. हालांकि, इसके बावजूद सवाल यह है कि क्या भारत आने वाले हफ्तों और महीनों में तेज रफ्तार से टीकाकरण कर पाएगा. केंद्र सरकार ने लक्ष्य रखा था कि 21 जून से 30 जून के बीच देशभर में टीके की 8 करोड़ खुराकें लगाई जाएंगी. वहीं, जुलाई में केंद्र का लक्ष्य 24.8 करोड़ टीके लगाने का है.

कोविन पोर्टल पर मौजूद आंकड़ों को देखें तो मंगलवार को 12 राज्यों में बड़े स्तर पर टीकाकरण में गिरावट आई. खासतौर पर वे राज्य जिन्होंने सोमवार को रिकॉर्ड टीकाकरण किया था. इनमें मध्य प्रदेश, हरियाणा, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और बिहार शामिल हैं.

इन राज्यों में हुई बढ़ोतरी

को-विन डैशबोर्ड के अनुसार, महाराष्ट्र ने संख्या में सबसे बड़ी वृद्धि देखी, सोमवार को प्रशासित 3,94,794 खुराक से 45 प्रतिशत की वृद्धि मंगलवार को रात 10 बजे तक 5,74,365 हो गई. इसके बाद पंजाब में सोमवार से 24 प्रतिशत बढ़ोतरी, हिमाचल प्रदेश में 23 प्रतिशत और छत्तीसगढ़ 22 प्रतिशत बढ़ोतरी देखी गई.

उत्तर प्रदेश ने मंगलवार को दैनिक टीकाकरण में 15 प्रतिशत की वृद्धि दिखाई. राज्य ने रात 10 बजे तक 8,44,174 वैक्सीन लगाईं, जोकि मंगलवार को देश में सबसे अधिक थी. अधिकांश उत्तर-पूर्वी राज्य 19 प्रतिशत अधिक लोगों को टीका लगाकर टीकाकरण की गति को बनाए रखने में सक्षम थे. कई राज्यों ने कहा कि वे अगले कुछ दिनों में और अधिक टीकों की डिलीवरी की उम्मीद कर रहे हैं, जिससे उन्हें गति बनाए रखने में मदद मिलेगी.

ये भी पढ़ें: ‘भारत में सितंबर तक बच्चों के लिए उपलब्ध होगी वैक्सीन’,: AIIMS निदेशक डॉ. गुलेरिया