पुरस्कार राशि न मिलने पर खिलाड़ियों ने भाजपा के किस सांसद को बनाया बंधक

BJP MP
Source-OneIndia

हरियाणा के बाद अब उत्तरप्रदेश में भी भाजपा के नेताओ को बंधक बनाया जा रहा हैं। भारत की राजनीति में ऐसा पहली बार ही देखने को मिल रहा हैं की जिस पार्टी की केंद्र और प्रदेशों में सरकार हैं। उसके बावजूद भी उनकी पार्टी के मंत्री और सांसदो को कभी कोई किसान नेता तो कभी खिलाड़ी बंधक बना लेते हैं।

उत्तरप्रदेश के शाहजहांपुर जिले में पुरस्कार की राशि नहीं दिए जाने पर खिलाड़ियों ने जमकर हंगामा काटा।खिलाड़ियों ने स्टेडियम के गेट पर ताला लगाकर भाजपा सांसद “अरुण कुमार सागर” को बंधक बना लिया। बाद में भारी पुलिसबल के आने के बाद ही सांसद को स्टेडियम से सुरक्षित बाहर निकाला गया और मामला शांत कराया गया।

जानकारी के अनुसार पिछले चार दिनों से शाहजहांपुर जिले के जदूनाथ सिंह खेल स्टेडियम में सांसद खेल स्पर्धा का कार्यक्रम चल रहा था। गुरुवार को कार्यक्रम के समापन के दौरान पुरस्कार वितरण किया जा रहा था। इस दौरान सिर्फ क्रिकेट टीम और कबड्डी टीम के खिलाड़ियों को नकद राशि इनाम में दी गई जबकि बाकी दूसरे खेलों के विजेता खिलाड़ियों को सिर्फ पदक और प्रमाण पत्र दिए गए।

जिसके बाद दूसरे खेलों के खिलाड़ियों ने सांसद अरुण कुमार सागर पर वादा करके मुक़र जाने का आरोप लगाते हुए हंगामा करना शुरू कर दिया। खिलाड़ियों ने आरोप लगाया कि सांसद ने नकद पुरस्कार दिए जाने की बात कही थी, लेकिन उन्हें सिर्फ पदक और प्रमाण पत्र दिया गया। गुस्साए खिलाड़ियों ने भाजपा सांसद अरुण कुमार सागर को स्टेडियम के अंदर बंद कर दिया और मुख्य गेट पर ताला लगा दिया। इस दौरान खिलाड़ियों ने भाजपा सांसद के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।

खिलाड़ियों ने भाजपा सांसद के स्वागत में लगाए गए पोस्टर और बैनर भी फाड़ दिए। बाद में स्थानीय थाने की पुलिस बंधक बनाए गए भाजपा के सांसद को छुड़ाने पहुंची। पुलिस ने ग़ुस्साए खिलाड़ियों को समझाने का बहुत प्रयास किया लेकिन खिलाड़ी मानने को तैयार नहीं हुए। बाद में भारी पुलिस बल के पहुंचने पर स्टेडियम के मुख्य गेट पर जमे खिलाड़ियों को वहां से हटाया गया और सांसद को स्टेडियम से बाहर निकाला गया।

खिलाड़ियों ने विरोध करने की अपनी सारी सिमाए पार कर दी और सांसद की गाड़ी के आगे लेट गए।इस दौरान महिला खिलाड़ियों ने सांसद के बेटे और सुरक्षाकर्मियों पर अभद्रता करने का आरोप लगाया। महिला खिलाड़ियों ने कहा कि स्थानीय थाने के प्रभारी ने पुरुष पुलिसकर्मियों से उन लोगों पर लाठी चलवाई। उन्होंने खिलाड़ियों का करियर तक ख़राब करने की धमकी दी।

यह भी पढ़े: विपक्ष के इस कदम से प्रधानमंत्री मोदी हुए ग़ुस्सा, कहा- लोकतंत्र के लिए “खतरा” हैं पारिवारिक पार्टिया

यह भी देखे: