comscore
Thursday, February 2, 2023
- विज्ञापन -
HomeभारतRepublic Day 2023: गणतंत्र दिवस पर कैसे होता है मुख्य अतिथि का चुनाव? जानें इस बार कौन है स्पेशल गेस्ट

Republic Day 2023: गणतंत्र दिवस पर कैसे होता है मुख्य अतिथि का चुनाव? जानें इस बार कौन है स्पेशल गेस्ट

Published Date:

Republic Day 2023: गणतंत्र दिवस एक ऐतिहासिक पर्व है. भारतीय संविधान 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ था. राष्ट्र गुरूवार को अपना 74वां गणतंत्र दिवस मनाएगा.  इसी मौके पर हर साल किसी न किसी अतिथि को गणतंत्र दिवस के मौके पर किसी न किसी विदेशी राष्ट्राध्यक्ष को मुख्य अतिथि के तौर पर बुलाना भारत की परंपरा रही है. कोरोना के चलते पिछले 2 साल से कोई भी मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल नहीं हो सके.

साल 2021 में भारत ने ब्रिटेन के तत्कालीन प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को चीफ गेस्ट के तौर पर बुलाया था, मगर कोरोना के चलते उनको अपना दौरा रद्द करना पड़ा था. पिछले साल 2022 में भी किसी अन्य राष्ट्र के राष्ट्राध्यक्ष या फिर किसी अन्य गणमान्य व्यक्ति को आमंत्रित नहीं किया गया.

2023 में मिस्र के राष्ट्रपति (President of Egypt) अब्देल फतह अल-सीसी (Abdel Fattah El-Sisi) गणतंत्र दिवस की परेड में मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल होंगे. हाल हाई में उन्होंने  गणतंत्र दिवस के निमंत्रण को स्वीकार किया है. गणतंत्र दिवस के मौके पर भारत में मुख्‍य अतिथि का विशेष सम्मान के साथ स्वागत किया जाता है. उन्हें भारत के राष्ट्रपति के सामने ‘गार्ड ऑफ ऑनर’ (Guard of Honour) दिया जाता है.

कैसे होता है मुख्‍य अतिथि का चुनाव

मुख्‍य अतिथि किसे बनाना है, इस बात को  लेकर विदेश मंत्रालय कई बातों पर सोच विचार करता है. इसमें सबसे पहले भारत और उस देश के संबंधो को ध्‍यान में रखा जाता है. ये देखा जाता है कि उस देश के साथ राजनीति, सेना और अर्थव्यवस्था का क्या कितना कनेक्शन है. ये भी ध्‍यान रखा जाता है कि आमंत्रित अतिथि को बुलाने से किसी अन्‍य देश से संबंधो तो खराब नहीं होंगे. इस तरह के तमाम मुद्दों पर विचार करने के बाद ही विदेश मंत्रालय मुख्‍य अतिथि के नाम पर अपनी मोहर लगाता है.

मिस्र के रा‍ष्‍ट्रपति के चयन की वजह

राष्ट्रपति अब्देल फतह अल-सिसी को गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि बनाने के पीछे एक खास वजह मानी जा रही है. पहली वजह अफ्रीकी महाद्वीप में मिस्र भारत का लिए महत्वपूर्ण व्यापारिक साझेदार रहा है. इसके अलावा 15 अगस्त 1947 को देश को आजादी मिलने के मात्र तीन दिन के बाद ही भारत और इजिप्ट के औपचारिक संबंध स्थापित हुए थे. साल 2022 के स्‍वतंत्रता दिवस पर भारत और इजिप्ट के औपचारिक संबंधों के 75 साल पूरे हुए हैं, दोनों देशों के संबंधो के लिहाज से ये साल काफी विशेष है. गणतंत्र दिवस के मौके पर मिस्र देश के राष्‍ट्रपति का भारत में चीफ गेस्‍ट के तौर पर आना, भविष्‍य में दोनों देशों के संबन्‍धों को और मजबूती देगा.

छह महीने पहले शुरू हो जाती है तैयारी

गणतंत्र दिवस पर किसे मुख्य अतिथि के आमंत्रण और उनके स्‍वागत की प्रक्रिया करीब छह महीने पहले से शुरू हो जाती है. इस बीच उन्हें निमंत्रण भेजना और निमंत्रण स्‍वीकार किए जाने के बाद उनकी सारी व्‍यवस्‍था जैसे आने पर ठहरने और पूरी तरह से विशेष तरह मेहमान नवाजी देने की व्‍यवस्‍था, गणतंत्र दिवस उन्हें विशेष गार्ड ऑफ ऑनर देना, विशेष भोज वगैरह कई कार्यक्रमों की तैयारी शुरू हो जाती है.

ये भी पढ़ें: देश के इन हिस्सों की परेड भी है खास, जानें राजधानी दिल्ली के अलावा और कहां होती है गणतंत्र दिवस की Parade?

Aashish Singh
Aashish Singhhttp://hindi.thevocalnews.com
आशीष सिंह एक उभरते हुए पत्रकार हैं और The Vocal News Hindi में बतौर Sub-Editor कार्यरत हैं. उनकी रुचि राजनीति और टेक जैसे विषयों में हैं और इन विषयों पर वह काफी समय से लिखते आ रहे हैं. उन्होंने अपनी जर्नलिज्म की पढ़ाई माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय से की है।
- विज्ञापन -

ताजा खबरें

अन्य सम्बंधित खबरें

शॉट हो तो ऐसा! Suryakumar Yadav ने घुटना टेक ठोका टावर से ऊंचा छक्का, देखें ये हैरतअंगेज वीडियो

Suryakumar Yadav: इंडिया के विस्फोटक बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav) के...

Lenovo IdeaPad: 40% के डिस्काउंट पर मिल रहा ये झपीट लैपटॉप, वजन और कीमत दोनों हैं कम

Lenovo IdeaPad: अगर आप नया लैपटाप लेने की प्लानिंग...