आयुर्वेद विशेषज्ञों के अनुसार पाचन तंत्र को ठीक रखने के लिए इन तीन चीजों का सेवन करें

स्वास्थ्य से बड़ा धन कोई नहीं है। इस क्रम में पाचन भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। एक स्वास्थ्य पाचन क्रिया कई शारीरिक प्रक्रिया पर निर्भर होता है। इसलिए कहा जाता है कि शरीर के संपूर्ण स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने के लिए पाचन का ठीक रहना सबसे आवश्यक होता है।

लेकिन आज सिर्फ पाचन तंत्र की बात नहीं होगी। आज बात होगी पाचन तंत्र किस विधि से ठीक हो। आज एलोपैथ और होम्योपैथ पर पूरी भारतीय स्वास्थ्य व्यवस्था निर्भर करती है। लेकिन एक वक्त पूरी भारतीय स्वास्थ्य व्यवस्था आयुर्वेद पर टिकी हुई थी।

आज भी कई असाध्य बीमारी का इलाज आयुर्वेद कर लेती है जो है वो होम्योपैथिक और एलोपैथिक दवाएं नहीं कर पा रही है। यदि आप अपने पाचन स्वास्थ्य में सुधार करना चाहते हैं, तो इन आयुर्वेद उपायों के बारे में जान लीजिए

DIGESTIVE SYSTEM AFFECTED DUE TO CORONA

*सौंफ है फायदेमंद
खाने में बेहतरीन लगने वाला सौंफ हमारे स्वास्थ्य व्यवस्था खासकर पाचन के लिए बहुत ही उपयोगी होता है। पेट में सूजन की समस्या के साथ-साथ लीवर की समस्या के लिए भी सौंफ बहुत ही फायदेमंद है। जिन लोगों को पेट में जलन की समस्या होती है उनके लिए सौंफ का पानी पीना फायदेमंद माना जाता है।

*मेथी है पेट के लिए फायदेमंद
सौंफ की तरह मेथी को भी आयुर्वेद मसाला में गिना जाता है। फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट का बेहतरीन स्त्रोत मेथी अवांछित और हानिकारक विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में काफी फायदेमंद है।

*अदरक है फायदेमंद

अदरक, पाचन के लिए रामबाण का काम करता है। चाय में अक्सर देने वाला अदरक में रासायनिक यौगिकों के साथ शरीर की प्रतिरक्षा-बढ़ाने की क्षमता होती है। आयुर्वेद में अदरक को सेहत के लिए विशेष गुणकारी औषधि बताया गया है।

ये भी पढ़ें: कहीं आप भी तो नहीं खाते हैं बहुत ज्यादा दिमाग तेज करनेवाला बादाम? जानिए नुकसान