गंभीर डेंगू के इन चार लक्षणों को भूलकर भी न करें नजरअंदाज, कैसे करें बचाव?

कोरोना वायरस धीरे धीरे हम सबों से विदा लेता जा रहा है। पूरा विश्व और देश एक भारी संकट से उभर कर नई सांस ले रहा है। लेकिन इस खुली सांस के बीच देश के कई एरिया में डेंगू का कहर भी बढ़ रहा है।

आंकड़ों को देखें तो देश में पिछले कुछ सालों में डेंगू के मामलों में काफी बढ़ोतरी हुई है। एडीज मच्छर के काटने से व्यक्ति डेंगू के प्रभाव में आ जाता है।

डेंगू की बीमारी में आने से बुखार आना और प्लेटलेट्स का लगातार गिरने जैसी दिक्कतें सामने आती हैं। चलिए जानते हैं ये लक्षण हैं क्या, जो हमें डेंगू की चपेट में आने के संकेत देते हैं…

*लक्षण

-सिर दर्द
-मांसपेशियों, हड्डियों और जोड़ों में दर्द
-जी मिचलाना
-मतली- उल्टी आना, पेट की खराबी
-उल्टी लगना
-आंखों के पीछे दर्द
-ग्रंथियों में सूजन
-त्वचा पर लाल चकत्ते होना

*डेंगू से बचाव

-त्वचा को खुला न छोड़ें:
-मच्छर रोधी क्रीम:
-व्यक्तिगत स्वच्छता:
-ठहरे हुए पानी को कीटाणुरहित करें:

*डेंगू बुखार के लिए घरेलू उपचार

-नीम के पत्तों का रस पीने से प्लेटलेट्स और सफेद रक्त कोशिकाओं की संख्या में वृद्धि होती है।

-पपीते में मौजूद पोषक तत्वों और कार्बनिक यौगिकों का मिश्रण बुखार में बहुत लाभदायक होते हैं।

-तुलसी के पत्ते डेंगू बुखार में बहुत फायदेमंद साबित होते हैं।

ये भी पढ़ें: ध्यान दें: पथरी के दर्द से आराम के लिए अपनाएं ये चार घरेलू नुस्खे