comscore
Wednesday, December 7, 2022
- विज्ञापन -

Chanakya Niti: आपके जीवन में भी घटित हो रहा है ऐसा कुछ, तो समझिए होने वाला कुछ बहुत बुरा

Published Date:

Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य भारत के महान विद्वानों में से एक हैं. जिनकी चाणक्य नीति ने कई मनुष्यों के जीवन का उद्धार किया है. आचार्य चाणक्य ने इस नीति शास्त्र के अन्तर्गत कुछ ऐसे संकेतों का वर्णन किया है जिनका सीधा संबंध आर्थिक स्थिति से होता है.

दरअसल कुछ ऐसी घटनाएं हमारे घर या आसपास घटित होती हैं जो आर्थिक संकट के आने का संकेत देती हैं. यूं तो आचार्य चाणक्य ने सफलता, असफलता, वैवाहिक जीवन, प्रेम जीवन, पुरुष व महिलाओं के स्वभाव इत्यादि विषयों पर कई बिंदुओं को प्रकट किया है.

लेकिन इसी के साथ चाणक्य ने आर्थिक संकट का संकेत देने वाली घटनाओं का भी वर्णन किया है. इस प्रकार चाणक्य के द्वारा लिखी गई चाणक्य नीति के मुताबिक यह पांच संकेत आपके जीवन अथवा घर में आर्थिक संकट आने की ओर इशारा करते हैं.

Tulsi Plant
Image Credit:- unsplash.com

तुलसी के पौधे का सूखना

हिंदू धर्म के अनुसार, तुलसी एक अत्यन्त पूजनीय व पवित्र पौधा है. जिसे हर एक पूजा पाठ में मुख्य रूप से प्रयोग किया जाता है. तुलसी के बिना श्री कृष्ण का भोग अधूरा माना जाता है. इसके साथ ही इसमें माता लक्ष्मी का वास भी माना जाता है.

इस प्रकार इस पौधे का घर में होना अत्यंत शुभ माना जाता है. लेकिन अगर आपकी तुलसी अचानक से सूखने लगी है तो इसका मतलब है कि आपके जीवन में पैसे से जुड़ी बड़ी समस्याएं आ सकती है. यह संकेत आपके भविष्य में खतरे की ओर इशारा करता है.

Chanakya Niti
Image Credit:- unsplash.com

घर में लड़ाई-झगड़ा होना

आचार्य चाणक्य के अनुसार जिस घर में क्लेश बना रहता है. परिवार के सदस्य आपस में लड़ाई झगड़ा करते हैं. वहां माता लक्ष्मी का वास कभी नहीं होता है. ऐसे घरों में माता लक्ष्मी की कृपा नहीं रहती है,

जिससे उनकी आर्थिक स्थिति बद से बद्तर होना शुरू हो जाती है. इस प्रकार यदि आपके घर में लड़ाई झगड़ा रहता है तो यह आपके आर्थिक कमजोरी का संकेत है.

Vastu For Home
Image Credit: unsplash.com

शीशा टूटना है अशुभ

वास्तु शास्त्र के मुताबिक घर में शीशा टूटना शुभ माना जाता है. इसके अतिरिक्त आचार्य चाणक्य कहते हैं कि शीशा टूटना आर्थिक परेशानियों का एक बड़ा संकेत है.

Chanakya Niti
Image Credit:- thevocalnewshindi

घर में नास्तिकता

ऐसा माना जाता है कि जिस घर में भगवान का ध्यान होता है और पूजा पाठ होती है वहां उनकी कृपा बनी रहती है. भगवान की कृपा से ऐसे घर में सुख व समृद्धि के साथ धन की कभी कमी नहीं रहती है.

ये भी पढ़ें:- जिनका होता है ऐसा व्यवहार, हर कोई रहता है उनसे खुश

ऐसे में जिस घर में पूजा पाठ नहीं की जाती है वहां आर्थिक परेशानियों का आना स्वाभाविक है. घर के सदस्यों की नास्तिकता परिवार के आर्थिक पतन की ओर इशारा करता है.

Anshika Johari
Anshika Joharihttps://hindi.thevocalnews.com/
अंशिका जौहरी The Vocal News Hindi में बतौर Sub-Editor कार्यरत हैं. उनकी रुचि विशेषकर धर्म आधारित विषयों में है, और इस विषय पर वह काफी समय से लिखती आ रही हैं. उन्होंने अपनी जर्नलिज्म की पढ़ाई इन्वर्टिस यूनिवर्सिटी, बरेली से की है.
- विज्ञापन -

ताजा खबरें

अन्य सम्बंधित खबरें

Hyundai की Cars पर भारी-भरकम छूट!1.5 लाख रूपए तक का सीधा डिस्काउंट, ऐसा मौका फिर नहीं मिलेगा

Hyundai का डिस्काउंट ऑफर: दिसंबर के महीने में ज़्यादातर...

दिल्ली में इन सभी वाहनों पर लग गया है BAN! जल्द जानें वरना भरना पड़ेगा मोटा जुर्माना

दिल्ली सरकार ने बिगड़ती वायु पोल्युशन को देखते हुए...

Chanakya Niti: ऐसे व्यक्तियों का होता है काला दिल, केवल मतलब के लिए बनाते हैं रिश्ते

Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य ने स्त्री और पुरुषों के...