जानिए किस प्रकार चन्द्र देव को प्रसन्न किया जा सकता है

चन्द्र देव
credit: pixabay.com

हिंदू धर्म में चंद्र देव को प्रत्यक्ष भगवान का रूप माना गया है. अमावस्या को छोड़कर चंद्रदेव अपनी सोलह कलाओं से परिपूर्ण होकर साक्षात दर्शन देने आते हैं. हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार भगवान चंद्र देव की पूजा के लिए सोमवार का दिन शुभ है. आइए अब आपको बताते हैं की चंद्रदेव को किस प्रकार मनाया जाता है और क्या शुभ फल प्राप्त होता है चंद्र देव की पूजा करने से.

चन्द्र देव को प्रसन्न करने के तरीके

चन्द्र देव भगवान शिव के माथे पर विराजमान है. आपको बता दें भगवान शिव की भी पूजा सोमवार को ही की जाती है. चंद्र देव को मनाने के लिए पानी या दूध को साफ पात्र में लेकर भगवान शिव की प्रतिमा को अच्छे से साफ करें और धोए. यदि आपके आसपास में भगवान शिव की कोई प्रतिमा ना हो तो आप बेल का वृक्ष ढूंढने और उसकी जड़ों पर जल को अर्पित कर दें.

सफेद वस्त्र, चावल, मोती, शंख, सफेद चंदन, श्वेत पुष्प, चीनी, बेल, और दही के दान से खुश होते हैं चंद्र देव। जो भी व्यक्ति सफेद मोती धारण करता है उस पर अपनी कृपा बरसाते हैं चंद्रदेव.

यदि आपकी कुंडली के छठे भाग में चंद्रमा का वास है, तो आपको दूध और पानी के दान से बचना चाहिए, इससे आप पर चंद्र देव की कृपा बरसेग.

चंद्र देव को मनाने के लिए प्रत्येक सोमवार सफेद वस्त्रों को धारण कर दही, चीनी, चावल, एक जोड़ी जनेऊ, दक्षिणी जायफल का दान करें. अपने मंदिर में बैठकर ॐ सोम सोमाय नमः मंत्र का 108 बार जाप करें, इस मंत्र के जाप से प्रसन्न होते हैं चंद्रदेव.

यह भी पढ़ें: शनि देव महाराज हो सकते हैं आपकी इन बातों से नाराज, तो रहिए सावधान