Eye blinking fact: जब आंख फड़कती है तो देती है एक गहरा संकेत, जानिए क्या है कारण..

आंख फड़कना
credit: wikimedia

हिंदू धर्म के अनुसार पौराणिक मान्यताओं की मानें तो आंख फड़कना से शुभ और अशुभ दोनो ही प्रकार के संकेत मिलते है. यदि किसी व्यक्ति की दाहिनी आंख फड़क रही है तो उसके लिए कुछ शुभ समाचार मिल सकता है, और यदि बाएं आंख फड़क रही है तो हो सकता है आपको कोई अशुभ समाचार मिले या आपके साथ कुछ अनुचित घंटे वाला है.

अब बात करते है विज्ञान के दृष्टिकोण की तो विज्ञान के अनुसार आंख फड़कना आपके शरीर में पनप रही कोई बीमारी की समस्या हो सकती है. वहीं एक कारण ये भी हो सकता है कि आपके आंख में कोई एलर्जी हो गई हो या आंख के पास की मासपेसियों में सकुचन आ गई है.

कई बार कुछ देर तक आंख फड़कती है लेकिन उसके बाद सही हो जाती है, लेकिन कुछ मामलों में यह दिक्कत कई दिन तक या एक लंबे समय तक हो जाती है ऐसे में आपको तुरत किसी आंखों के विशेषज्ञ डॉ. से परामर्श करना चाहिए.

आंख फड़कने की कुछ मुख्य कारण

तनाव के कारण: किसी कारणवश लम्बे समय तक तनाव बने रहने के कारण अनिद्रा की समस्या उत्पन्न हो जाती है जिसके कारण भी आँखे फड़कने लगती है ऐसे में नींद पूरी होने पर तनाव कम होने के साथ हीं आँख फड़कना बंद हो जाता है.

अधिक मात्रा में कैफिन और अल्कोहल का सेवन करना: कभी कभी अधिक चाय, कॉफी और अल्कोहल के सेवन से भी आंख के पास की मासपेसियों पर असर होता है. जिसकी वजह से आंख फड़कने लगती है. ऐसे में कैफिन का सेवन एक पर्याप्त मात्रा में करना चाहिए और अल्कोहल से जितना परहेज हो सके करना चाहिए.

आँखों में एलर्जी होने पर: आँखों में धूल, चुभन या लाल आँखें होने की समस्या के फलस्वरूप भी आँखे फड़कने लगती है. इन लक्षणों के उत्पन्न होने पर डाक्टर के परामर्श से आई ड्राप या दवा प्रयोग करने पर समस्या दूर हो जाती है.

शरीर में मैग्निशियम की कमी के कारण: शरीर में मैग्निशियम की कमी के कारण भी आँखों के फड़कने की समस्या का सामना करना पड़ सकता है. ऐसे में मैन्ग्नीशियम युक्त खाद्य पदार्थों के सेवन से समस्या पर काबू पाया जा सकता है.

डिस्टोनिया रोग के कारण: आँखों का फड़कना डिस्टोनिया रोग का संकेत भी हो सकता है. इस बीमारी में आँखों की माँसपेशिया संकुचित होती है. इसके अतिरिक्त पार्किसंस, स्ट्रोक आदि रोग के कारण भी आँखें फड़कती हैं.

आंखों की रोशनी कम होना: आँखों के फडकने का कारण आँखों की लेंस का कमजोर होना भी हो सकता है. ऐसे में सही पॉवर के चश्मे का प्रयोग करने से समस्या दूर हो जाती है.

थकान के कारण: ज्यादा काम के बोझ, चिंता या बीमारी के कारण सिर दर्द बने रहने के कारण आँखों से पानी गिरने की समस्या हो जाती है. जिससे भी आँखे फड़कने लगती हैं.

यह भी पढ़ें: Sanatan Dharma Facts: ॐ क्यों है विश्व का सबसे शक्तिशाली मंत्र, जाने इससे होने वाले लाभ