Lord Shiva: भगवान शंकर की पूजा करते समय कभी ना करें यह गलतियां, वरना नाराज हो सकते हैं भोलेनाथ…

भोलेनाथ
Image Credit: Pixabay

देवो के देव महादेव को यूं तो हम सब सभी भोलेनाथ के नाम से भी जानते है. वहीं सभी इस बात से भी अवगत है कि भोलेनाथ बहुत जल्दी क्रोधिक भी हो जाते है और उनका तांडव इस संसार के लिए अत्यंत विनाशकारी है. वहीं भगवान शंकर को भोला भंडारी इस वजह से कहा जाता है क्योंकि शिव जी अपने भक्तों की भक्ति से बहुत जल्द ही प्रसन्न हो जाते है. इसी वजह से उनके भक्त इन्हें रिझाने के लिए उनकी पूजा अर्चना करते रहते है और महादेव को प्रसन्न करने का हरसंभव प्रयास करते रहते है. मगर क्या आपको पता है की शिव जी अपने भक्तो से जितना जल्दी प्रसन्न होते है उतना ही जल्दी क्रोधित भी हो जाते है यदि कोई भी उनकी पूजा अर्चना के समय गलतियां कर दे तो.

आज इस लेख के माध्यम से हम आपको ऐसी ही गलतियों के बारे में बताएंगे जिसके करने से भगवान शंकर क्रोधित हो जाते है

पौराणिक कथाओं के अनुसार एक राजा भगवान शिव की भक्ति में मगन रहता था. इसके पीछे का कारण था उसके राज्य की प्रजा का सुखी रहना और वह अपनी प्रजा को सुखी देखने के लिए हर संभव प्रयास करते थे. भगवान शंकर की पूजा अर्चना करने से लेकर किसी भी प्रकार का अनुष्ठान भी करते मगर उनके राज्य की प्रजा खुश नही रहती थी. इस बात से निराश होकर वह अपने कुलगुरु के पास गए और उन्हें अपनी पूरी व्यथा सुनाई, जिसके बाद उनके कुलगुरु ने कहा की “हे राजन जरूर आपसे भगवान शिव की पूजा में कोई गलती हो रही है जिस वजह से भोलेनाथ आपसे प्रसन्न नही हो रहे है. मैं कल महल आकर आपको भगवान शिव की पूजा के नियमों से अवगत कराता हूं.”

जिसके बाद अगले दिन कुलगुरु ने आकर बताया कि इन 5 चीजों के करने से भगवान शिव क्रोधित हो जाते है.

  1. भगवान शिव की पूजा में शंख का प्रयोग नहीं करना चाहिए.
  2. भगवान शिव की पूजा करते समय तुलसी का उपयोग नहीं करना चाहिए.
  3. भगवान शिव की पूजा करते समय कुमकुम और हल्दी का उपयोग नहीं करना चाहिए.
  4. भगवान शिव को जल अर्पित करने के बाद कभी भी उनकी परिक्रमा नहीं करनी चाहिए.
  5. भगवान शिव को न अर्पित करें केतकी के फूल.

यह भी पढ़ें: Manasa Devi Temple: जानें शिव पुत्री के रूप में विख्यात मनसा देवी जी की मान्यता के बारे में…