Puri Rath Yatra: कोरोना के कारण बिना भक्तों के निकाली जाएगी पुरी रथयात्रा, लगेगा कर्फ्यू

Puri rath Yatra
Image Credits: Wikimedia

कोरोना माहमारी के कारण पिछली साल की तरह इस बार भी पुरी रथ यात्रा (Puri Rath Yatra) भक्तों के बिना ही निकाली जाएगी. यह फैसला ओडिशा की सरकार ने लिया है. जगन्नाथ धाम पुरी भगवान जगन्नाथ जी की विश्व प्रसिद्ध यात्रा है. जिसमें लाखों की संख्या में भक्त एकत्र होते हैं. लेकिन इस बार पुरी के अलावा किसी भी जगह पर रथयात्रा निकाली जाएगी. यह जानकारी विशेष राहत आयुक्त प्रदीप कुमार जेना ने दी है.

ओडिशा विशेष राहत आयुक्त प्रदीप के जेना का कहना है कि पुरी रथ यात्रा इस वर्ष कोरोना के प्रतिबंधों के बाद, भक्तों की भागीदारी के बिना, केवल सेवकों के साथ आयोजित की जाएगी. उन्होंने बताया कि रथ यात्रा के संचालन के लिए पिछले साल जारी सुप्रीम कोर्ट के दिशानिर्देशों का पालन किया जाएगा.

आपको बता दें कि पिछली साल की तरह इस साल भी रथयात्रा में केवल सेवक ही शामिल होंगे. साथ ही इस यात्रा में वही सेवक शामिल हो सकेंगे जिन्हें वैक्सीन के दोनों डोज लग चुके होंगे या फिर सेवक को रथयात्रा में शामिल होने से 48 घंटे पहले की आरटीपीसीआर की निगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी.

विशेष राहत आयुक्त ने जानकारी देते हुए बताया है कि इस साल भी कोरोना के नियमों का पालन करते हुए पुरी रथयात्रा आयोजित की जाएगी. विशेष राहत आयुक्त ने कहा है कि इस बार भी पुरी रथयात्रा में कर्फ्यू लगाया जाएगा. जिससे बस एवं गाड़ियों का आने जाने पर पाबंदी रहेगी.

ये भी पढ़ें: वास्तु के अनुसार कैसे बढ़ाएं वैवाहिक जीवन में रोमांस