किस राशि के जातकों को धारण करना चाहिए पुखराज, किसे नहीं?

पुखराज
credit: wikimedia

हिंदू धर्म में ज्योतिष शास्त्र का महत्व है. कहते हैं इस ब्रहमांड में मौजूद सभी तत्वों का प्रभाव हमारे शरीर, मन एवं कार्यों पर पड़ता है. इसी प्रकार सभी रत्नों को ज्योतिष के अनुसार किसी न किसी ग्रह से सम्बंधित बताया गया है. हमारे पास कुल नौ रत्न होते हैं- माणिक्य, मोती, मूंगा, पन्ना, पुखराज, हीरा, नीलम, गोमेद और लहसुनिया. इनका क्रमशः सूर्य, चन्द्रमा, मंगल, बुध, बृहस्पति, शुक्र, शनि, राहु और केतु ग्रहों से संबंध होता है. आज हम इन्हीं ग्रहों के चलते बृहस्पति के रत्न पुखराज की बात करेंगे. किस जातक को यह धारण करना चाहिए और किसे नही.

पुखराज, जिसे अंग्रेजी में Yellow Sapphire कहते हैं देखने में हल्के पीले या गहरे पीले रंग का होता है. यह चमकीला होता है. ध्यान से देखने पर ऐसा लगता है जैसे इसके अंदर पानी हो. इसके आर-पार दिखाई देता है लेकिन साफ साफ नहीं, थोड़ा सा धुंधला. हालांकि पीला पुखराज सबसे ज्यादा अमूल्य और लोकप्रिय होता है लेकिन इसके अलावा यह सफेद, गुलाबी और नीले रंग का भी होता है और वह सब भी बहुत मूल्यवान होते है. एक बहुत ही दुर्लभ ब्रेगेंजा नामक 1640 कैरेट का रंगहीन पुखराज पुर्तगाल के राजा के पास है , जिसे पहले हीरा समझा जाता था.

किस राशि के जातकों को पुखराज रत्न धारण करना चाहिए

मेष राशि, सिंह राशि, कन्या राशि, वृश्चिक राशि और धनु राशि के लोगों को पुखराज धारण करना चाहिए. इसको धारण करने से इन राशि के जातकों को सर्वाधिक लाभ होता है.

मेष राशि का स्वामी मंगल है. गुरु और मंगल में घनिष्ठ मित्रता है इसीलिए मेष राशि वाले लोग धारण कर सकते हैं. यह धारण करने के बाद उन्हें आर्थिक रूप से लाभ मिल सकता है.

सिंह राशि का स्वामी सूर्य है. सूर्य और बृहस्पति ग्रह में मैत्रीपूर्ण सम्बन्ध होने के कारण सिंह राशि वाले पुखराज पहन सकते हैं.

कन्या राशि का स्वामी बुध ग्रह है. बुध ग्रह और बृहस्पति ग्रह में अच्छी मित्रता है जिसके कारण यह जातक पुखराज धारण करेंगे तो इन्हे लाभ मिलेगा.

वृश्चिक राशि का स्वामी ग्रह मंगल है. मंगल और बृहस्पति ग्रह में मैत्रीपूर्ण सम्बन्ध होता है. अतः वृश्चिक राशि के लोग पुखराज पहन सकते हैं.

धनु राशि के चौथे भाव का स्वामी गुरु ग्रह हो, तब इस राशि के लोगों को पुखराज धारण करने से लाभ प्राप्त होता है.

अब देखते है किस जातक को इस रत्न को धारण करने से होता है नुकसान

कुंभ राशि और मकर राशि वाले जातकों को पुखराज धारण नहीं करना चाहिए. क्योंकि दोनों ही राशियों का स्वामी शनि ग्रह है. शनि और बृहस्पति ग्रह के संबंध अच्छे नहीं है और दोनो ही एक दूसरे के शत्रु है. इस वजह से इन राशि के जातकों को यह नहीं धारण करना चाहिए.

अन्य सभी राशियों के जातकों के लिए ज्योतिष शास्त्र के अनुसार पुखराज धारण करने से न ही कोई नुकसान होगा और न ही अधिक लाभ.

यह भी पढ़ें: सिख धर्म के लंगर का क्यों है इतना महत्व?