चेतावनी: अंतरिक्ष में बढ़ते कचरे से पृथ्वी पर मंडरा रहा बड़ा खतरा

कचरा सिर्फ धरती पर नहीं बल्कि अंतरिक्ष पर भी बढ़ता जा रहा है। इसका असर पृथ्वी पर भी पड़ेगा। अंतरिक्ष वैज्ञानिकों के अनुसार, अभी अंतरिक्ष मलबे के 1 करोड़ 70 लाख से ज्यादा टुकड़े मौजूद हैं जिस टुकड़े में प्राकृतिक उल्कापिंड, कृत्रिम वस्तुओं साथ-साथ टूटे टुकड़े के साथ ही निष्क्रिय उपग्रह शामिल हैं। 

सैटेलाइट पर बढ़ रहा कचरा पृथ्वी के लिए बेहद नुकसानदेह होगा। अमेरिका में स्थित यूटा विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं की मानें तो अंतरिक्ष में बढ़ रहे कचरे की वजह से धरती के चारों तरफ शनि जैसे छल्ले का निर्माण करना पड़ेगा।

इस छल्ले को बनाने में मैग्नेट टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाएगा। अगर छल्ले का निर्माण नहीं हो सका तो अंतरिक्ष में बढ़ते कचरे की वजह से अंतरिक्षयान और सैटेलाइट टकरा सकते हैं। 

एक आंकड़े के अनुसार, बीते 10 साल में अंतरिक्ष में 7,500 मीट्रिक टन कचरे की वृद्धि हुई है। यह अंतरिक्ष में सैटेलाइटों की सुरक्षा के लिए बेहद खतरनाक है। अगर इस पर अंकुश नहीं लगाया गया तो इसके बाद से अंतरिक्ष में कचरा लगातार बढ़ रहा है जो पृथ्वी के लिए एक बड़ा खतरा साबित हो सकता है।

ये भी पढ़ें: Space में दिखा ‘Godzilla’, साइंटिस्ट बता रहे हैं अंतरिक्ष की छिपकली