ODI World Cup 2023 की चमचमाती और बेहतरीन ट्रॉफी में क्या है खास, जानें कैसा हुई है ये तैयार

 
ODI World Cup 2023 की चमचमाती और बेहतरीन ट्रॉफी में क्या है खास, जानें कैसा हुई है ये तैयार

ODI World Cup 2023: आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप 2023 की मेजबानी भारत करने वाला है. 5 अक्टूबर से 19 नवंबर तक भारत में वर्ल्ड कप खेला जाने वाला है. उससे 100 दिन पहले आईसीसी की ओर से वर्ल्ड कप 2023 की शानदार और चमचमाती ट्रॉफी भी लॉन्च कर दी गई है. इस ट्रॉपी को 27 जून को एक खास अंदाज में लॉन्च किया गया है. इस बार वर्ल्ड कप ट्रॉफी का अनावरण स्पेश से यानी पृथ्वी से 1,20,000 फीट की ऊंचाई पर किया गया. इस जबरदस्त ट्रॉफी की लैंडिंग अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी क्रिकेट स्टेडियम में हुई. इस ट्रॉफी को एक स्ट्रैटोस्फेरिक गुब्बारे की मदद से आसामान में छोड़ा गया. जहां 4K कैमरों से पृथ्वी के वायुमंडल के किनारे पर ट्रॉफी की शानदार तस्वीरें खींची गईं, जो काफी ज्यादा अद्भुत नजर आ रहीं हैं.

क्या है ट्रॉफी में खास

लंदन में पॉल मॉर्सडेन ऑफ गारर्ड एंड कंपनी ने वर्ल्ड कप की इस ट्रॉफी को डिजाइन किया है. इस ट्रॉफी का वजन 11 किलोग्राम, ऊंचाई में 65 सेंटीमीटर है. ट्रॉफी के डिजाइन की बात करें तो चांदी के तीन कॉलम्स के ऊपर एक शानदार और चमचमाता सोने का ग्लोब रखा गया है. जो कि क्रिकेट बॉल के रूप में देखा जा सकता है. ट्रॉफी में तीनों कॉलम्स तीन जगह लगाए गए हैं और ये क्रिकेट के मैदान पर इस्तेमाल होने वाले स्टंप को दर्शाते हैं.

WhatsApp Group Join Now
https://twitter.com/JayShah/status/1673334457015697415?s=20

कैसे तैयार हुई ट्रॉफी

वर्ल्ड कप ट्रॉफी काफी बेहतरीन है. इसे बनाने के लिए कंपनी के डायरेक्टर स्टीवेन ओटविल और उनकी टीम को कड़ी मेहनत करनी पड़ी है. ओटविल ने कहा कि, "दुनिया को एक वर्ल्डक्लास ट्रॉफी देने के लिए हमें काफी मेहनत करनी पड़ी है. हम एक ऐसी ट्रॉफी बनना चाहते थे, जिसमें क्रिकेट से जुड़ी चीजें जैसे कि क्रिकेट बाॉल, स्टंप आदि दिखाइ दें. इस बनाने के लिए पहले इसका डिजाइन स्केच के तहत कागज पर उतारा गया और फिर उसे कंप्यूटर से फाइनल टच दिया गया".

इसके बाद र्ल्ड कप ट्रॉफी तैयार करने के लिए और ज्यादा मेहनत की जरूरत थी. आइसीसी ने एक वीडियो शेयर की है. इस वीडियो में ट्रॉपी की कटिंग, हैमरिंग और उस नक्काशी देते हुए कारिगर नजर आ रहे हैं.

https://twitter.com/ICC/status/1032145344082018304?s=20

जेम्स लॉन्गस्टॉफ के अनुसार, ठवर्ल्डकप ट्रॉफी को बेहतरीन दिखाने के लिए इसकी कटिंग से लेकर हैमरिंग होती है. ट्रॉफी का ढांचा जब तैयार हो जाता है तो इसकी पॉलिशिंग होती है. इसके बाद ट्रॉफी पर सिल्वर और गोल्ड की पानी चढ़ाया जाता है. इसका बेस को मजबूत लकड़ी से बनया जाता है"

ट्रॉफी को डिजायन करने वाले मैनेजर जो क्लार्क ने बताया कि इस ट्रॉफी को बनाना काफी जिम्मेदारी का काम है. इस काम के लिए आपको कलात्मक होने की जरूरत है. ट्रॉफी बनाने वाले को अच्छी गणित की भी समझ होनी चाहिए."

ये भी पढ़ें : Hardik Pandya ने विनिंग चौका लगाने से पहले DK को इशारा कर क्यों कहा ? मैं हूं ना, देखें वीडियो

Tags

Share this story