Uefa Euro 2020: आज से होगी यूरो कप की शुरुआत, फैन्स की मौजूदगी से जमेगा अलग रोमांच

image credit: uefa euro/twitter

Uefa Euro 2020: यूरोप की सबसे बड़ी चैंपियनशिप, यूरो 2020 की शुरुआत आज यानी कि 11 जून से होगी. पहले मैच में टर्की और इटली भिड़ेंगे. इटली का शहर रोम पहले मुकाबले की मेजबानी करेगा. स्टेडीयो ओलंपिक स्टेडियम में दर्शकों की मौजूदगी टूर्नामेंट में अलग जान डालेगी और यही कोरोना से प्रभावित टूर्नामेंट को अलग बनाएगा.

हालाँकि, रोम में प्रशंसकों का सिर्फ 25% क्षमता को ही अन्दर जाने की अनुमति होगी. लेकिन, कोरोना से प्रभावित यूरो 2020 में एक फुल हाउस होने का मतलब स्टेडियम का पूरा भरा जाना ही जरुरी नहीं है.

महामारी से संबंधित प्रतिबंध शुक्रवार को रोम में खेले जाने वाले टूर्नामेंट के पहले मुकाबले के दौरान दर्शकों की अंतिम संख्या को प्रभावित कर सकते हैं.

11 मेजबान शहरों ने दिए दर्शकों को स्टेडियम में एंट्री

वेम्बली के अलावा ग्लासगो से सेंट पीटर्सबर्ग और सेविला से बुखारेस्ट तक सभी 11 मेजबान शहरों ने यूरो 2020 मैचों के लिए कम से कम कुछ प्रशंसकों को अपने स्टेडियम में अनुमति देने पर सहमति व्यक्त की है.

उधर यूरो में सबसे ज्यादा फैन्स पूर्वी इलाके जैसे बुडापेस्ट, बाकू और सेंट पीटर्सबर्ग में होने की उम्मीद हैं. इन 3 जगहों के स्टेडियमों में 50% और 100% क्षमता के बीच ग्राउंड में फैन्स खिलाड़ियों और अपने पसंदीदा टीम को सपोर्ट करेंगे.

हंगरी में दिख सकता है फुल हाउस

वही पर यूरो कप में ग्रुप E की टीम हंगरी को अपने घर पर फैन्स के बीच खेलने का मौका मिलेगा. पुस्कास एरीना में ग्रुप E की दो और टीमें फ्रांस और पुर्तगाल के मुकाबले हंगरी के साथ होने हैं. ऐसे में फुल हाउस कैपेसिटी से भरे स्टेडियम में प्रशंसक गतविजेता पुर्तगाल और स्टार खिलाड़ी क्रिस्टियानो रोनाल्डो के अलावा कियान म्बाप्पे और विश्व कप चैंपियन फ्रांस की टीमों को मेजबान देश के खिलाफ खेलते देख पाएँगे.

बाकू, पीटर्सबर्ग में 50% फैन्स की एंट्री

दो और होस्ट बाकू और सेंट पीटर्सबर्ग ने यह इच्छा जताई है कि उनके स्टेडियम आधे भरे हों. इसका मतलब है कि अज़रबैजान में तीन ग्रुप मैचों और एक क्वार्टर फाइनल के लिए 35,000 दर्शक हो सकते हैं, जबकि रूस में छह ग्रुप मैचों और क्वार्टर फाइनल के लिए यह आंकड़ा लगभग 30,000 हो सकता है.

पहली, दूसरी और तीसरी प्राथमिकता प्रशंसकों की सुरक्षा

टूर्नामेंट में दर्शकों की मौजूदगी को लेकर UEFA इवेंट्स मार्टिन कालेन ने कहा कि “एक टूर्नामेंट में पहली प्राथमिकता, दूसरी प्राथमिकता और तीसरी प्राथमिकता हमेशा प्रशंसक सुरक्षा होती है.”

कोरोना प्रोटोकॉल का करना होगा पालन

उन्होंने आगे कहा, “यह हर किसी के लिए महत्वपूर्ण है कि हमारे पास दर्शक हों, यह समाज में हम सभी के लिए सामान्यता की दिशा में एक कदम का प्रतिनिधित्व करता है.” लेकिन, इसके साथ, हम समर्थकों से गुजारिश करेंगे कि वह समझदारी दिखाएँ और उचित योजनाबद्ध तरीके से स्टेडियम में एंट्री करें. समय पर आएं, स्टेडियम में घुसने के लिए जल्दी न करें, मास्क पहनें, जितना संभव हो दूसरों से दूरी बनाए रखें और जो कुछ भी आप करते हैं उसमें सुरक्षा को प्राथमिकता दें.”

अधिकांश स्टेडियम में 25% दर्शकों की मौजूदगी होगी

बता दें अधिकांश अन्य स्टेडियमों में लगभग 25% क्षमता भरने की उम्मीद है, म्यूनिख में सबसे कम 22% और कुछ अन्य स्टेडियमों में संभवतः 45% तक दर्शकों की मौजूदगी संभव होगी. लंदन का वेम्बली स्टेडियम जो आठ मैचों के साथ टूर्नामेंट में सबसे अधिक खेलों की मेजबानी करेगा, वहां 25% ही प्रशंसक होंगे. हालाँकि, दो सेमीफाइनल और फाइनल के लिए यह संख्या बढ़ाई जा सकती है.

कलेन ने यूरो 2020 वेबसाइट पर पोस्ट किए गए एक साक्षात्कार में कहा, “प्रशंसकों के बिना फुटबॉल समान नहीं है और उन्हें वापस लाना बहुत महत्वपूर्ण है, इसलिए मुझे पूरे टूर्नामेंट में समर्थकों को देखकर बहुत खुशी होगी और हम संतुष्ट महसूस कर सकते हैं कि हम ऐसा करने में कामयाब रहें.”