VIRAT KOHLI ने कहा ‘भरे कमरे में अकेला महसूस करता था’, यहां जानें किंग कोहली ने क्यों कहा ऐसा

Asia Cup 2022

लंबे समय से आउट ऑफ फॉर्म के बीच, भारत के पूर्व कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने अपने अंदर की कुछ कमियों पर खुल कर बात की है। विराट कोहली ने अपने मानसिक स्वास्थ्य और टॉप एथलीट होने के दबाव के बारे में खुलासा किया। उन्होंने कहा, “किसी के आंतरिक मन में क्या चल रहा है ये जानना बेहद अहम है।” कोहली, जिन्होंने पिछले 9 महीनों में सभी फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ दी, ने कहा, “अगर एक कमरे में मुझे प्यार और समर्थन देने वाले लोग होते हैं तो भी मैं कई बार अकेला महसूस करता हूं।”ये 33 वर्षीय बल्लेबाज एक महीने के लंबे ब्रेक के बाद एशिया कप (Asia Cup 2022) से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी करेगा।

भरे कमरे में अकेला महसूस करता था

मेंटल हेल्थ को लेकर सवाल पर VIRAT KOHLI ने कहा, ” एक एथलीट के तौर पर खेल में आप सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर सकते हैं, लेकिन साथ ही आप जिस दबाव में लगातार रहते हैं वह आपके मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है। यह निश्चित रूप से एक गंभीर मुद्दा है और हम मजबूत रहने की कोशिश करते हैं, लेकिन यह तोड़ सकता है। युवा एथलीटों के लिए मेरा सुझाव यह होगा कि फिटनेस और रिकवरी पर ध्यान देना एक अच्छा एथलीट बनने की कुंजी है, लेकिन अपने आप से जुड़ाव काफी महत्वपूर्ण है।

अपने लिए समय निकालें

VIRAT KOHLI ने आगे कहा, “व्यक्तिगत रूप से ऐसे समय का अनुभव हुआ है जब मुझे समर्थन और प्यार करने वाले लोगों से भरे कमरे में भी मैं अकेला महसूस करता था। मुझे पता है कि इससे बहुत लोग इत्तेफाक रखते होंगे। इसलिए अपने लिए समय निकालें और अपने आप जुड़े रहें। ऐसा नहीं होने पर अन्य चीजों के बिखरते समय नहीं लगेगा। आपको यह सीखने की जरूरत है कि अपने समय को कैसे बांटा जाए ताकि संतुलन बना रहे।”

ये भी पढ़ें: Sourav Ganguly ने विराट कोहली के फॉर्म को लेकर की भविष्यवाणी, कहा पाकिस्तान के खिलाफ बनाएंगे ताबड़तोड़ रन..