ऑफिस में पुलिस के पहुंचने पर ट्विटर ने कहा: ‘भारत में स्टाफ की सुरक्षा पर हैं चिंतित’

Jack Dorsey
image credits: Flickr

ट्विटर कंपनी ने गुरुवार को कहा है कि वो भारत में अपने कर्मचारियों की सुरक्षा को लेकर चिंतित है. हाल ही में ट्विटर ने अपने प्लेटफॉर्म पर डाली गयी कुछ पोस्ट को मैनुपुलेटेड मीडिया यानी तथ्यात्मक तौर पर गलत बताया था. जिसमें कोविड टूलकिट को लेकर भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा व अन्य नेताओं के ट्वीट भी शामिल थे. दिल्ली पुलिस इस मामलें की जांच के संदर्भ में नोटिस देने के लिए सोमवार को ट्विटर के ऑफिस पहुंची थी. जिसके बाद कंपनी ने अपने कर्मचारियों की सुरक्षा को लेकर चिंता जताई है.

ट्विटर प्रवक्ता ने कहा, “अभी, हम भारत में अपने कर्मचारियों के संबंध में हाल की घटनाओं और उन लोगों के लिए अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के संभावित खतरे से चिंतित हैं जिनकी हम सेवा करते हैं. हम, भारत और दुनिया भर में नागरिक समाज में कई लोगों के साथ, हमारी वैश्विक सेवा की शर्तों को लागू करने के साथ-साथ नए आईटी नियमों के मूल तत्वों के जवाब में पुलिस द्वारा धमकाने की रणनीति के उपयोग के संबंध में चिंतित हैं. हम इन विनियमों के उन तत्वों में बदलाव की वकालत करने की योजना बना रहे हैं जो मुक्त, खुली सार्वजनिक बातचीत को रोकते हैं.”

प्रवक्ता ने आगे कहा, “हम भारत सरकार के साथ अपनी रचनात्मक बातचीत जारी रखेंगे और मानते हैं कि सहयोगात्मक दृष्टिकोण अपनाना महत्वपूर्ण है. जनता के हितों की रक्षा करना निर्वाचित अधिकारियों, उद्योग और नागरिक समाज की सामूहिक जिम्मेदारी है.”

मैनुपुलेटिव मीडिया फ्लैग पर मचा था बवाल

बता दें कि बीजेपी नेताओं द्वारा कथित “कांग्रेस टूलकिट” पर “हेरफेर मीडिया” के रूप में पोस्ट किए जाने के बाद से ट्विटर सरकार और पुलिस के रडार पर है. सरकार ने ट्विटर को टैग हटाने के लिए कहा था और इसी संबंध में दिल्ली पुलिस ने स्पष्टीकरण मांगने और नोटिस देने के लिए सोमवार की शाम दिल्ली और गुड़गांव स्थित ट्विटर इंडिया के कार्यालयों का दौरा किया था.

इस से पहले भारत सरकार ने टूलकिट विवाद पर संबित पात्रा व अन्य नेताओं के ट्वीट के लिए “Manipulated Media” टैग का उपयोग करने के लिए ट्विटर से कड़ी आपत्ति जताई थी. सूत्रों के मुताबिक ट्विटर से इस टैग को हटाने के लिए कहा गया है क्योंकि मामला कानून प्रवर्तन एजेंसी के समक्ष लंबित है. ट्विटर से जांच प्रक्रिया में दखल न देने को कहा गया है.

ये भी पढ़ें: Youtuber ने गुब्बारे के सहारे उड़ाया डॉगी, वीडियो वायरल के बाद हुआ गिरफ़्तार