क्या आपने फोन में है ये ऐप, तो तुरंत करें डीलीट कर दीजिए वरना खाली हो जाएगा अकाउंट

Fraud apps
Last updated:

स्मार्टफोन के आ जाने से काफी सुविधाएं हुई है लेकिन अगर फोन ध्यान ना रखें तो यह एक बङा खतरा भी हो सकता है क्योंकि जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी बढ रही है वैसे-वैसे साइबर फ्रोड भी तेजी से बढ रहा है ऐसे में यूजर्स को भी एक्टिव रहने की जरूरत है ज्यादा धोखाधड़ी ऐप्स के माध्यम से होती है वैसे तो Google और Apple इन ऐप्स को डीलीट करते रहते हैं लेकिन फिर भी ऐसे बहुत ऐप्स फिर से आ जाते हैं जो यूजर्स के साथ धोखाधड़ी करते हैं. साइबर सिक्योरिटी कंपनी Avast ने हाल ही में बताया है कि Premium SMS फ्रोड स्कीम में 151 एंड्रॉयड ऐप्स थे, जो यूजर्स के लिए काफी खतरनाक साबित हो सकते हैं.

इन फ्रोड ऐप्स को भारी में डाउनलोड किया गया है पूरी दुनिया में 80 से भी ज्यादा देशों में लगभग 1,5 करोड़ से भी ज्यादा लोगों ने इन ऐप्स को डाउनलोड किया है. इन 151 फ्रोड ऐप्स की लिस्ट में QR कोड स्कैनर, कॉल ब्लॉक, वीडियो और फोटो एडिटिंग प्रोग्राम, गेम्स और कस्टम कीबोर्ड जैसे ऐप्स है. इन सभी ऐप्स ने एक ही पैटर्न को फॉलो किया है जिसमें ऐप डाउनलोड करने के बाद ये ऐप फोन की लोकेशन और IMEI नंबर मांगते हैं.

यह फ्रॉड यूजर्स के फोन नंबर और Email आईडी के लिए साइन-इन का इस्तेमाल करते हैं और इस जानकारी का उपयोग Premium SMS सर्विस के लिए साइन-अप करने के लिए करते हैं इस बात की जानकारी यूजर्स को नहीं होती है. इस सर्विस के लिए ये ऐप्स $40 यानी लगभग 3 हजार रुपये प्रति महीनें यूजर्स से लेते हैं. जब यूजर्स इन ऐप्स के जाल में फंस जाता है तो ये ऐप काम करना बंद कर देते हैं.

Avast ने इन सभी 151 ऐप्स के बारे में बताया है जो यूजर्स के साथ फ्रॉड कर रहे थे. अगर आपने भी इनमें से कोई ऐप डाउनलोड किया है तो उसे तुरंत अनइंस्टॉल कर दीजिए. नहीं तो ये ऐप्स बङा फ्रॉड भी कर सकते हैं. अगर कोई ऐप आपसे डेबिट कार्ड या नेट बैंकिंग की जानकारी मांगता है तो उसे यह जानकारी ना दें.

यह भी पढें: ये है Jio, Airtel और BSNL के सबसे सस्ते ब्रॉडबैंड प्लान, सिर्फ 13 रूपये में मिल रहा है 3,300GB डेटा