अवसर: नाइजीरिया ने ट्विटर पर लगाया प्रतिबंध तो स्वदेशी एप “Koo” ने मारी एंट्री

नाइजीरिया ने ट्विटर को विगत दो दिन पूर्व अनिश्चितकाल के लिए प्रतिबंध लगा दिया हैं. बतादें यह प्रतिक्रिया ट्विटर द्वारा नाइजीरिया के राष्ट्रपति के एक ट्वीट को डिलीट करने के बाद आई है जिसमें ट्विटर ने राष्ट्रपति के उस ट्वीट में कंपनी के नियमों का उल्लंघन बताया था. जिसके चलते देश के लाखों लोग शनिवार से ट्विटर का इस्तेमाल नहीं कर पा रहे है. नाइजीरिया के ‘द असोसिएशन ऑफ लाइसेंस्ड टेलिकम्युनिकेशन ऑपरेटर्स’ ने एक बयान में कहा कि उसके सदस्यों ने सरकारी निर्देश के अनुसार ट्विटर की सेवाएं बंद कर दी हैं.

क्या है मामला ?

दरअसल शुक्रवार को नाइजीरिया की सरकार ने कहा था कि वह ‘माइक्रोब्लॉगिंग साइट’ की सेवाओं पर रोक लगा रही है क्योंकि ट्विटर ने अलगाववादी आंदोलन पर राष्ट्रपति मोहम्मदु बुहारी का ट्वीट हटा दिया है. सूचना एवं संस्कृति मंत्री लाई मोहम्मद ने शुक्रवार को कहा कि सरकारी अधिकारियों ने ट्विटर की सेवाओं पर रोक लगाने का निर्णय लिया क्योंकि इस मंच का इस्तेमाल ‘‘ऐसी गतिविधियों के लिए हो रहा है जो नाइजीरिया के कॉरपोरेट अस्तित्व को कमजोर करने की क्षमता रखती हैं’’

उन्होंने राष्ट्रपति के पोस्ट को हटाने के लिए ट्विटर की आलोचना की और कहा, ‘‘नाइजीरिया में ट्विटर का मिशन संदिग्ध है’’ और ट्विटर ने पूर्व में देश की सरकार के खिलाफ भड़काऊ ट्वीट को अनदेखा किया था.

नाइजीरिया में KOO ने ढूंढा अवसर

एक तरफ जहां शनिवार को नाइजीरियन सरकार ने ट्विटर के इस्तेमाल पर अनिश्चितकाल तक रोक लगा दी, वही भारत में तेज़ी से बढ़ते ट्विटर के स्वदेशी विकल्प KOO के को-फाउंडर अप्रमेय राधाकृष्ण ने इसके बाद शनिवार को ट्वीट करते हुए लिखा, “Koo अब नाइजीरिया में भी उपलब्ध है. हम अपने इस प्लेटफॉर्म पर यहां की स्थानीय भाषाओं का विकल्प देने की भी सोच रहे हैं.”

राधाकृष्ण ने पीटीआई से कहा, ”अब हमारे लिए नाइजीरिया में अवसर है. कू का इरादा ऐप में स्थानीय नाइजीरियाई भाषाएं जोड़ने का है.” उन्होंने कहा कि हमारा मंच नाइजीरिया के बाजार में विस्तार के लिए तैयार है. उन्होंने कहा कि कू अपने परिचालन वाले देशों में स्थानीय कानूनों का पूरी तरह अनुपालन करेगी.

ये भी पढ़ें: 5जी प्रौद्योगिकी स्वास्थ्य के लिए पूरी तरह सुरक्षित, अफवाहों पर न दे ध्यान: सीओएआई