आखिर कोने से क्यों कटा होता है सिम कार्ड्स का डिज़ाइन? जानें

image credits: freeimageslive

मोबाइल में लगा हुआ एक सिम कार्ड करदेता है आपके लिए मीलो लंबी दूरी को आसान. क्या आविष्कार है न! इस सिम कार्ड ने संचार की दुनिया को ही बदल कर रख दिया. आज सिम कार्ड करोड़ों लोगों के मोबाइल फोन में अपनी जगह पर फिट बैठा है.

आमतौर पर आपने देखा होगा कि सिम कार्ड का एक कोना एक ओर से कटा हुआ होता है. 2G से लेकर 5G जनरेशन सिम तक, क्या अपने कभी सोचा कि सिम कार्ड का यह एक कोना क्यों कटा होता है? आज हम इसी डिज़ाइन की वजह के बारे में आपको बताने जा रहे है.

पहले फ़ोन में सिम बदलना था मुश्किल

पहले आप हर रोज सिम नहीं बदल सकते थे, क्योंकि ऐसे मोबाइल फोन मौजूद नहीं थे. मतलब ये कि आपने एक बार जिस ऑपरेटर का फोन ले लिया. उसी का इस्तेमाल आपको हमेशा करना पड़ता था. लेकिन जैसे-जैसे वक्त बदला तकनीक में भी बदलाव हुआ है.

ऐसे में फोन बाज़ार में आए जिनमें से सिम को बाहर निकाला और लगाया जा सकता था. हालांकि, तब तक सिम का कोना कटा हुआ नहीं होता था. इसकी वजह से लोग सिम को सही से निकाल नहीं पाते थे और सिम को निकालने में समस्या होती थी.

सिम के कटे होने की वजह

दरसअल जब ये समस्या लोगो के बीच तेजी से बढ़ने लगी, तब टेलिकॉम कंपनियों ने सिम के डिजाइन में बदलाव करने के बारे में सोचा. ताकी सिम लगाने में लोगों को आ रही परेशानी को दूर किया जा सके, क्योंकि सबसे बड़ी दिक्कत यह थी कि लोग यह नहीं समझ पाते थे कि सिम की उल्टी और सीधी साइड कौन सी है.

इस समस्या को दूर करने के लिए फिर टेलीकॉम कंपनियों ने सिम को एक कोने से काट दिया. इस से लोगों को ये समझ आ जाता था कि सिम सीधी है या उल्टी। और अहम बात ये कि लोगों को सिम इन्सर्ट करने में भी कोई समस्या नहीं होती थी.

ये भी पढ़ें: Google Photos का विकल्प बन सकता है Degoo, मिलेगी 100GB फ्री स्टोरेज