भारत के अलावा जर्मनी की जनता भी झेल रही ‘महंगाई की मार’, जानिए इसके पीछे का असली कारण

Inflation
Image Credits: Pixabay

कोरोना वायरस (Coronavirus) ने भारत ही नहीं बल्कि कई देशों की अर्थव्यवस्था को हिलाकर रख दिया है. वहीं कई देश तो ऐसे हैं जिनकी इकॉनमी अभी भी खस्ता हालात में चल रही है. भारत में तो महंगाई की मार जनता झेल ही रही है इसके अलावा जर्मनी (Germany) में भी लोग महंगाई के कारण काफी परेशान हैं. जानकारी के मुताबिक वहां पर इस समय चल रही महंगाई दर पिछले 50 वर्षों में सबसे ज्यादा है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि आखिर देश में क्यों है इतनी महंगाई? आज हम आपको बताएंगे इसके पीछे का कारण…

देश में चल रही महंगाई का कारण यह है कि लॉकडाउन और कोरोना से उबरने के बाद सरकार को जिस हिसाब से चीजों की सप्लाई बढ़ानी चाहिए, वैसा नहीं हो सका. जिसके कारण हर क्षेत्र में चीजों के दाम रोजाना बढ़ते दिखाई दे रहे हैं. यूरोप की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं की स्थिति भी यही है वहां पर अब महंगाई लोगों की तबीयत खराब करती जा रही है. फ्रांस, इटली और स्पेन उन देशों में से थे जिनकी महंगाई दर 2% से अधिक थी और इसमें धीरे-धीरे बढ़ोतरी देखी जा रही है. इन देशों में महंगाई बढ़ाने का कारण जर्मन सेल्स टैक्स को भी माना जा रहा है.

50 सालों में सबसे अधिक है महंगाई दर

वहीं जर्मनी की बात करें तो यहां पर प्रोड्यूसर प्राइस इनफ्लेशन (महंगाई दर) पिछले 50 वर्षों में सबसे ऊपर चला गया है. जिसके कारण जर्मनी में सभी जरूरी चीजों की कीमतें आसमान को छू रही हैं. एक आंकड़े के मुताबिक, जर्मनी में प्रोड्यूसर इनफ्लेशन अगस्त महीने में 12 फीसदी था जो सितंबर में बढ़कर 14.2 फीसदी हो गया. इससे पहले जर्मनी में इस तरह की महंगाई अक्टूबर 1974 में दिखी थी जो कि अब साल 2021 के अक्टूबर में दिख रही है.

वहीं महंगाई को लेकर भारत की बात करें तो यहां पर थोक कीमतों पर आधारित मुद्रास्फीति सितंबर में 10.66 प्रतिशत दर्ज की गई है, हालांकि इस दौरान कच्चे तेल में तेजी देखी गई. थोक मूल्य सूचकांक (WPI) पर आधारित महंगाई लगातार छठे महीने दो अंकों में रही. अगस्त में यह 11.39 फीसदी थी, जबकि सितंबर 2020 में महंगाई 1.32 फीसदी थी. हाल ही में पेट्रोल और डीजल, गैस सिलेंडर, तेल आदि चीजों पर रुपये बढ़ाए गए हैं.

Business Idea: हर सीजन में चलेगा ये काम, 2 लाख रुपये महीने में पैदा होगा दाम, आज ही शुरुआत करें

ये भी पढ़ें: बांग्लादेश में दुर्गा पूजा के दौरान हिंदु परिवारों की हत्या, तस्लीमा नसरीन ने कहा मदरसे से फैल रही है नफ़रत