इस दिन होगा Queen Elizabeth II का अंतिम संस्कार,जानें विश्व के कौन-कौन से नेता होंगे शामिल

Queen Elizabeth II

Queen Elizabeth II का पार्थिव शरीर स्कॉटलैंड के एडिनबर्ग में होलीरूडहाउस के महल में पहुंच गया। यहां सोमवार दोपहर तक उनके पार्थिव शरीर को रखा जाएगा। शाही परिवार ने इसकी जानकारी दी।ताबूत को शाही बैनर ‘रॉयल स्टैंडर्ड ऑफ स्कॉटलैंड’ में लपेटा गया था और इस पर फूलों का गुलदस्ता रखा हुआ था। महारानी का ताबूत को लेकर चल रहा वाहन सात कारों के काफिले के साथ भारी पुलिस बल की मौजूदगी में धीरे-धीरे एडिनबर्ग की तरफ बढ़ा। इस दौरान रास्ते में खड़े लोगों ने दिवंगत महारानी को पुष्पांजलि अर्पित की। काफिले में एलिजाबेथ द्वितीय की बेटी राजकुमारी ऐनी मौजूद थीं।

इस दिन होगा Queen Elizabeth II का अंतिम संस्कार

सप्ताह के अंत में महारानी के ताबूत को लंदन ले जाया जाएगा। बकिंघम पैलेस ने राजकीय अंत्येष्टि संबंधी योजनाओं की जानकारी साझा की है। इसके तहत मंगलवार को संक्षिप्त प्रार्थना के बाद ताबूत को एडिनबर्ग एयरपोर्ट ले जाया जाएगा। यहां से एलिजाबेथ की बेटी एनी इसे लंदन ले जाएंगी। शाम 8 बजे लंदन पहुंचने पर इसे बकिंघम पैलेस के बो-रूम में रखा जाएगा।जिसके बाद बुधवार को सलामी के बाद ताबूत वेस्टमिंस्टर पैलेस ले जाया जाएगा। शाही परिवार के सदस्य मौन रखकर पीछे चलेंगे। तीन बजे ताबूत वेस्टमिंस्टर हॉल पहुंचेगा।अंतिम संस्कार सोमवार 19 सितंबर को वेस्टमिंस्टर एबे में होगा। इस दिन ब्रिटेन में राजकीय अवकाश घोषित किया गया है। अंतिम संस्कार से पहले दिवंगत महारानी का पार्थिव शरीर चार दिनों के लिए संसद परिसर के भीतर वेस्टमिंस्टर हॉल में रखा जाएगा, ताकि ब्रिटेन की जनता उन्हें श्रद्धांजलि दे सके।

html

अंतिम संस्कार में कौन-कौन होगा शामिल

द इंडिपेंडेंट की रिपोर्ट के मुताबिक, महारानी एलिजाबेथ को 19 सितंबर को दी जाने वाली इस अंतिम विदाई को दुनियाभर के लाखों लोग टीवी पर लाइव देखेंगे। चुनिंदा लोगों को इस निजी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया गया है।महारानी एलिजाबेथ की अंतिम विदाई देने ब्रिटेन के पूरे शाही खानदान के अलावा अलग-अलग देशों के नेता, शासक सहित कई नामचीन हस्तियां पहुंचेंगी।इनमें अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, ब्रिटेन की प्रधानमंत्री लिज ट्रस, लेबर पार्टी के नेता कीर स्टार्मर, तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोआन, श्रीलंका के राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे, स्पेन, बेल्जियम, नॉर्वे, डेनमार्क, स्वीडन और नीदरलैंड्स सहित यूरोप के शाही परिवार के सदस्यों सहित कई देशों के राष्ट्रप्रमुख भी शामिल होंगे। इस दौरान लगभग 2,000 गेस्ट के मौजूद रहने की उम्मीद है।

इसे भी पढ़ें: Queen Elizabeth II के पास थी अरबों की संपत्ति, महारानी को हीरे-जेवरात का खूब शौक था, जानें क्वीन की बेशुमार दौलत