तालिबान का भारत को धन्यवाद, संकट मोचक बन पेश की वसुधैव कुटुम्बकम की मिसाल

india and afghanistan
Source- Daily Business World

तालिबान का अमानवीय व्यवहार किसी से छुपा नहीं हैं, 90 के दशक में तालिबान का मानवता विरोधी कार्य पूरी दुनिया ने देखा था। आज वही तालिबान “भारत” द्वारा की गई मदद पर भावनात्मक आंसू बहा रहा हैं और इस भारत की मदद पर तालिबान धन्यवाद देते नहीं थक रहा। कोरोना एक वैश्विक महामारी रूप में उभरा हैं, पूरी दुनिया इसकी चपेट में हैं। लेकिन भारत ने एक बार फिर वसुधैव कुटुम्बकम की मिसाल पूरी दुनिया में क़ायम की हैं। कोरोना की दूसरी लहर से जब पूरी दुनिया संकट में थी तब भारत विश्व के लिए हनुमान जी महाराज का रूप धारण कर संकट मोचक बना था।

पूरी दुनिया ने तालिबान से मुँह मोड़ लिया हैं, लेकिन भारत ने मानवता की ख़ातिर अपना पड़ोसी धर्म निभाते हुए पहले गेहूँ भेजा फिर ज़रूरी दवाइयाँ और अब 5 लाख कोरोना की वैक्सीन भेजी हैं। तालिबान द्वारा संचालित अफ़ग़ानिस्तान की ज़िंदगी एक बार फिर पटरी पर आ गयी हैं। दरअसल टोलो न्यूज़ के हवाले से खबर आयी हैं की भारत ने विश्व स्वास्थ्य संगठन के ज़रिए अफगानिस्तान के जन स्वास्थ्य मंत्रालय को जीवन रक्षक दवाए दान किया हैं हम इसकी प्रशंसा करते हैं और अन्य देशों से अफगानिस्तान की मदद करने के लिए आगे आने की अपील करते हैं।

Source- PTC NEWS

इसके आगे तालिबान ने कहा इसके अलावा भारत ने 5 लाख कोरोना वायरस के लिए वैक्सीन की डोज़ भी भेजी हैं, हम उनके (भारत) शुक्रगुजार हैं कि इस कठिन और मुश्किल वक्त में भारत ne हमारी मदद की हैं। भारत में अफगानिस्तान के राजदूत फरीद मामुन्दजई ने ट्वीट कर भारत को धन्यवाद दिया। उन्होंने लिखा अपने उपकार करने वालों के साथ जो साधुता बरतता हैं, उसकी तारीफ नहीं हैं। महात्मा तो वह हैं जो अपने साथ बुराई करने वालो के साथ भी भलाई करे। इस कठिन समय में अफगानिस्तान के बच्चों को चिकित्सा सहायता प्रदान करने के लिए भारत को धन्यवाद। अमर रहे भारत- अफगान मित्रता।

इस मदद के बाद ही तालिबान को पता चला हैं कि पाकिस्तान कितना धोखेबाज देश हैं जो उसे इस मझदर में अकेले छोड़ भाग खड़ा हुआ हैं। भारत के राजनीतिक पंडितो का कहना हैं की तालिबान की आँख खुलना बहुत ज़रूरी था। तालिबान को पता होना चाहिए की पाकिस्तान किस तरह का धोका देता हैं। तालिबान का भारत के प्रति रुख़ भी बदला हैं, अब देखना यह होगा की भारत के लिए तालिबान का यह रुख़ कब तक ऐसा ही रहता हैं।

यह भी पढ़े: हमले पर पाक पीएम की पूर्व पत्नी बोलीं-‘कायरों और ढोगियों के देश में आपका स्वागत है’

यह भी देखें: