सेक्स के दौरान स्टेल्थिंग को कई देश बलात्कार क्यों मान रहे हैं?

Sexy Viral Story :- पति के दोस्त के साथ शारीरिक संबंध बनाते समय महिला को पड़ा गया हार्ट अटैक! जानें फिर क्या हुआ
Image Credits: Pixabay

सेक्स के दौरान स्टेल्थिंग को कई देश बलात्कार क्यों मान रहे हैं? इस सवाल को जानने से पहले जानिए की स्टेल्थिंग क्या होता है?

स्टेल्थिंग यानी ‘सेक्स के दौरान अपने साथी की जानकारी या सहमति के बिना कंडोम हटाना। आसान शब्दों में कहें, तो स्टेल्थिंग का मतलब सेक्स के दौरान साथी को जानकारी दिए बिना कंडोम हटा लेने या उसे जानबूझकर नुक़सान पहुंचाने से है। इस प्रक्रिया के बाद साथी के यौन संचारित रोगों से संक्रमित या गर्भवती होने का ख़तरा पैदा हो जाता है।

अमेरिका के कैलिफ़ोर्निया राज्य की संसद ने स्टेल्थिंग पर प्रतिबंध लगा दिया है। पिछले 4 साल से इस कानून पर नियम बनाने का प्रयास कर रही कैलिफ़ोर्निया के डेमोक्रेट सदस्य क्रिस्टीना गार्सिया ने कहा, ”अब साफ़ है कि कैलिफ़ोर्निया में ऐसा करना अपराध है।”

गार्सिया के अनुसार स्टेल्थिंग न केवल अनैतिक है, बल्कि अवैध भी है। इसलिए सभी देश इस पर रोक लगाएं।

इस सब के उलट स्टेल्थिंग इंटरनेट पर ज्यादा लोकप्रिय हो रहा है। इंटरनेट पर कई ब्लॉग में सेक्स अपराधियों को ये बताते पाया गया कि स्टेल्थिंग के काम को कैसे अंजाम दिया जाए.

क़ानून क्या कहता है?

कई देशों में स्टेल्थिंग से निपटने के लिए अलग-अलग तरीके अपनाए गए है।

•कैलिफ़ोर्निया का क़ानून अमेरिका का अपनी तरह का पहला क़ानून है जो स्टेल्थिंग को असल में अपराध नहीं बनाता।
•जर्मनी मेंआठ महीने की निलंबित जेल की सज़ा के साथ-साथ पीड़ित के यौन स्वास्थ्य की जांच के लिए 96 यूरो (8,300 रुपए) और हर्जाने के रूप में 3,000 यूरो (2.62 लाख रुपए) का जुर्माना लगाया जाता है।

•न्यूज़ीलैंड में तीन साल से लेकर नौ महीने की जेल की सज़ा सुनाई जाती है

•ब्रिटेन में भी स्टेल्थिंग को बलात्कार माना जाता है।

•नीदरलैंड्स, फ़िनलैंड, स्विट्ज़रलैंड और स्लोवेनिया सहित कई देश अपने क़ानूनों को बदलने की सोच रहे हैं। वहीं स्पेन ने पिछले साल यौन हिंसा के लिए एक विधेयक लाने की घोषणा की थी ।

ये भी पढ़ें: विरापोल सुकफोल: कहानी कइयों से सेक्स करने वाले करोड़पति बौद्ध भिक्षु की