comscore
Monday, December 5, 2022
- विज्ञापन -

World Rivers Day: क्यों मनाया जाता है विश्व नदी दिवस,जानें इस साल की थीम और इतिहास

Published Date:

विश्व नदी दिवस (World Rivers Day) हर साल सितंबर महीने के चौथे रविवार को मनाया जाता है.जो इस साल 25 सितंबर को यानि आज मनाया जा रहा है. इस दिवस की शुरुआत 2005 में हुई थी उसी साल पहला विश्व नदी दिवस मनाया गया था और तभी से आज तक हर साल मनाया जाता है. इस साल 18 विश्व नदी दिवस मनाया जाना है.

क्यों मनाया जाता है World Rivers Day

नदीयों में फेका जा रहा कूड़ा करकट नदियों के पानी को दूषित करता है वह उसमें रह रहे जीवों को भी नुकसान पहुंचा रहा है.नदियों के बारे में जन जागरुकता बढ़ाने के लिए और उनके संरक्षण पर ध्यान देने के लिए इस दिवस को मनाया जाता है.

ये है इस साल की थीम

हर साल विश्व नदी दिवस एक थीम के साथ मनाया जाता है. इस साल विश्व नदी दिवस 2022 कि थीम है – “एक नदी सब कुछ बदल सकती है”. इसी के साथ आइए आपको बताएं पिछले कुछ सालों की विश्व नदी दिवस की थीम के बारे में…

विश्व नदी दिवस 2022 – एक नदी सब कुछ बदल सकती है.

विश्व नदी दिवस 2021 – “हमारे समुदायों में जलमार्ग”.

विश्व नदी दिवस 2020 – नदियों के लिए कार्य दिवस.

विश्व नदी दिवस 2019 – हमारे समुदायों में जलमार्ग.

विश्व नदी दिवस 2018 – पानी के लिए प्रकृति आधारित समाधान.

ऐसे हुई World Rivers Day की शुरूआत

नदियों को लेकर हो रही लापरवाही को ध्यान में रख करवर्ष 2005 में मार्क एंजेलो जो की एक प्रसिद्ध नदी पर्यावरणविद् हैं ने स्युक्त राष्ट्र को जल जीवन अभियान के दौरान संबोधित किया। इस अभियान में संबोधन करते हुए उन्होंने विश्व नदी दिवस मनाने की बात सामने रखी। ताकि सभी लोग इस बात को समझे की नदियां समाज के लिए कितनी महत्वपूर्ण है. उसी साल यानी 2005 में पहला विश्व नदी दिवस मनाया गया था। उसी समय से सितंबर महीने के चौथे रविवार को विश्व नदी दिवस मनाने का फैसला लिया गया।

कौन-कौन से देश मनाते हैं

हर साल सितंबर महीने के चौथे रविवार को विश्व नदी दिवस मनाया जाता है.बता दें कि दुनिया भर के 100 से अधिक देशों में इस दिवस को मनाया जाता है।ब्रिटेन, कनाडा, अमेरिका, भारत, पोलैंड, दक्षिण अफ्रिका, ऑस्ट्रेलिया, मलेशिया और बांग्लादेश में नदियों की रक्षा को लेकर कई कार्यक्रम का आयोजन होता है।

ये भी पढ़ें: India को मिलने जा रही है अहम जिम्मेदारियां,बढ़ते रुतबे को देखकर चीन-पाक चिंतित

Punit Bhardwaj
Punit Bhardwaj
पुनीत भारद्वाज एक उभरते हुए पत्रकार हैं और The Vocal News Hindi में बतौर Sub-Editor कार्यरत हैं। उनकी रुचि बिजनेस,पॉलिटिक्स और खेल जैसे विषयों में हैं और इन विषयों पर वह काफी समय से लिखते आ रहे हैं। उन्होंने अपनी जर्नलिज्म की पढ़ाई AAFT से की है।
- विज्ञापन -

ताजा खबरें

अन्य सम्बंधित खबरें

Chanakya Niti: वास्तव में पाना चाहते हैं अपने जीवन में सफलता, तो हंस से सीखें ये कला

Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य द्वारा व्यक्ति को जीवन में...