Crop Diversification Scheme: किन फसलों के करने पर प्रति एकड़ 4 हजार रुपए की मदद देती है सरकार, जानें और उठाएं फायदा

PM Kisan Mandhan Yojana
Farmer Schemes

Crop Diversification Scheme: देश के किसानों को सशक्त बनाने के लिए राज्य और केंद्र सरकार सरकार अपने-अपने स्तर पर कई योजनाएं बनाती रहती है. किसानों के लिए ऐसी ही एक फसल विविधीकरण योजना (Crop Diversification Scheme) है. जिसमें किसानों को आर्थिक रुप से मदद दी जाती है.

ये मदद के तहत हरियाणा सरकार अपने किसानों को देती है. इस योजना के तहत अब दलहन-तिलहन की फसलों (pulses and oilseeds crops) को बढ़ावा दिया जाएगा. फिलहाल के लिए हरियाणा सरकार दक्षिण हरियाणा के सात जिलों भिवानी, चरखी दादरी, महेंद्रगढ़, रेवाड़ी, झज्जर, हिसार व नूंह में इस योजना का लाभ दे रही है.

आपको बता दें कि सरकार किसानों को बाजरा की बुवाई (sowing of millet) छोड़ने पर करीब 4 हजार रुपए प्रति एकड़ वित्तीय सहायता (financial help) देगी. इस योजना के तहत जिलों में लगभग 1 एकड़ क्षेत्र में दलहन व तिलहन फसलों की बुवाई करने का लक्ष्य तय किया है.


किसानों की आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए कृषि एवं किसान कल्याण विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुमिता मिश्रा का कहना है कि केंद्र सरकार की तरफ से तिलहन फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी की हैं. जिसका लाभ किसानों को मिल रहा है. बता दें कि इस योजना के अंतर्गत दलहन फसलों में मूंग, अरहर व उड़द, तिलहन फसलों में अरंड, मूंगफली व तिल आदि को शामिल किया गया है.

ऐसे करें योजना के लिए पंजीकरण

अगर आप भी तिलहन फसल के लिए सरकार की फसल विविधीकरण योजना से लाभ प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपको मेरी फसल-मेरा ब्योरा पोर्टल पर जाकर ऑनलाइन पंजीकरण करना होगा. आपके फॉर्म के सत्यापन के बाद योजना की राशि आपके खाते में डिजिटलकरण के माध्यम से ट्रांसफर कर दी जाएगी. किसानों के हित में इस खबर को शेयर करें.

ये भी पढ़ें : IRCTC Update: आपका वेटिंग टिकट कंफर्म होगा या नहीं, ऐसे पता लगाएं तुरंत, पढ़ें जानकारी