Loan Guarantor: किसी को कर्ज दिलवाने जा रहे हैं तो ध्यान रखें ये बातें, लोन का गारंटर बनना पड़ सकता है महंगा, जानें नियम व शर्तें

Loan Guarantor: आज के समय में लोन लेना काफी आसान हो गया है। पैसों की जरुरत हर किसी को होती है। कोई व्यवसाय के लिए लोन लेता है तो कोई पर्सनल काम के लिए लोन लेता है। लोन लेते समय एक गारंटर की भी जरुरत होती है।

लोन लेने के लिए तमाम दस्तावेज जमा करने होते हैं। इसके साथ ही एक गारंटर भी बताना होता है। लोन लेने के लिए बैंक या फाइनेंस कंपनी एक ऐसे शख्स के हस्ताक्षर करवाती है जो कर्ज लेने वाले की गारंटी दे सके। कर्ज नहीं चुकाने की हालत में कर्ज चुकाने की गारंटर पर जिम्मेदारी आ जाती है। इसलिए किसी भी व्यक्ति का लोन गारंटर बनने से पहले नियम व शर्ते जरूर पढ़ लेनी चाहिए।

Loan

लोन लेते समय किसी का गारंटर बनने का मतलब है कि कर्ज चुकाने की जिम्मेदारी लेना। हस्ताक्षर करने से पहले अच्छे से सोच-समझकर ही हस्ताक्षर करें। नियम के मुताबिक, लोन का गारंटर बनने वाला व्यक्ति लोन लेने वाले के बराबर कर्जदार होता है। डिफाल्ट की स्थिति में अगर लोन लेने वाले का जवाब नहीं आता है तो गारंटर को नोटिस भेजा जाता है।

इसे भी पढ़ें: PPF: इस स्कीम में निवेश करने से मिल सकती है आपको 1 करोड़ रुपये की मोटी रकम,बस करना होगा ये काम