comscore
Wednesday, February 1, 2023
- विज्ञापन -
HomeबिजनेसSCSS: उम्र बढ़ने लगी है तो टेंशन ना लें, ये स्कीम बनेगी आपके बुढ़ापे का सहारा,जानें पूरी डिटेल

SCSS: उम्र बढ़ने लगी है तो टेंशन ना लें, ये स्कीम बनेगी आपके बुढ़ापे का सहारा,जानें पूरी डिटेल

Published Date:

डाकघर की छोटी बचत योजनाएं हमेशा निवेश के लिए एक बेहतर विकल्प रही हैं। इसकी सबसे अच्छी बात यह है कि गारंटीड रिटर्न के साथ जमा पूरी तरह सुरक्षित है। ये निवेश बाजार के उतार-चढ़ाव से प्रभावित नहीं होते हैं। डाकघर विभिन्न प्रकार की जमा योजनाएं प्रदान करता है। इन्हीं योजनाओं में से एक है डाकघर की वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (SCSS)।

एससीएसएस के तहत 60 साल या उससे अधिक उम्र का व्यक्ति खाता खोल सकता है। अगर किसी की उम्र 55 साल या उससे ज्यादा है लेकिन 60 साल से कम है और उसने वीआरएस लिया है तो वह एससीएसएस में भी खाता खुलवा सकता है. लेकिन शर्त यह है कि उसे सेवानिवृत्ति लाभ प्राप्त होने के एक महीने के भीतर यह खाता खोलना होगा और इसमें जमा की गई राशि सेवानिवृत्ति लाभ की राशि से अधिक नहीं होनी चाहिए।

SCSS पर 7.4% मिलेगा ब्याज

डाकघर की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार इस योजना में सालाना ब्याज 7.4% होगा। इस योजना में परिपक्वता अवधि 5 वर्ष है। जमा 1000 रुपये के गुणकों में किया जा सकता है। साथ ही इसमें अधिकतम 15 लाख रुपये का निवेश किया जा सकता है। इसे एकमुश्त निवेश करना होगा।

SCSS
credit- Pixa

एससीएसएस में नामांकन की सुविधा उपलब्ध

वरिष्ठ नागरिक बचत योजनाओं में खाता खोलने और बंद करने के समय नामांकन की सुविधा उपलब्ध है। इस अकाउंट को एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस में ट्रांसफर किया जा सकता है। इसमें खाताधारक समय से पहले बंद कर सकता है। लेकिन डाकघर खाता खोलने के 1 साल बाद खाता बंद करने पर ही जमा का 1.5 फीसदी काटेगा, जबकि 2 साल के बंद होने के बाद जमा राशि का 1 फीसदी काट लिया जाएगा।

SCSS में क्या है मैच्योरिटी की सुविधा

SCSS की मैच्योरिटी के बाद, खाते को और तीन साल के लिए बढ़ाया जा सकता है। इसके लिए मैच्योरिटी की तारीख से एक साल के भीतर आवेदन जमा करना होगा। इस खाते में जमा राशि पर भी कर कटौती उपलब्ध है। इस योजना में निवेश पर आयकर अधिनियम की धारा 80सी के तहत छूट है।

हालांकि एससीएसएस में ब्याज से होने वाली आय पर कर लगता है। यदि आपके सभी SCSS की ब्याज आय 50,000 रुपये प्रति वर्ष से अधिक है, तो आपका TDS काटना शुरू हो जाता है। टैक्स की राशि आपके ब्याज से काट ली जाती है। यदि ब्याज आय निर्धारित सीमा से अधिक नहीं है, तो आप फॉर्म 15जी/15एच जमा करके टीडीएस से राहत प्राप्त कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: Ration Card New List- क्या आपको मिलेगा राशन कार्ड का लाभ,ऐसे चैक करें लिस्ट में नाम

Punit Bhardwaj
Punit Bhardwaj
पुनीत भारद्वाज एक उभरते हुए पत्रकार हैं और The Vocal News Hindi में बतौर Sub-Editor कार्यरत हैं। उनकी रुचि बिजनेस,पॉलिटिक्स और खेल जैसे विषयों में हैं और इन विषयों पर वह काफी समय से लिखते आ रहे हैं। उन्होंने अपनी जर्नलिज्म की पढ़ाई AAFT से की है।
- विज्ञापन -

ताजा खबरें

अन्य सम्बंधित खबरें

Nawazuddin Siddiqui पर उनकी पत्नी ‘आलिया सिद्दीकी ने लगाए गंभीर आरोप, बोलीं ‘7 दिन तक खाना और सोने को बिस्तर…

बॉलीवुड के दिग्गज कलाकार नवाजुद्दीन सिद्दीकी (Nawazuddin Siddiqui) और...

Budget 2023-24: Custom Duty को लेकर सरकार का बड़ा ऐलान, जानें कैसे होती है इसकी कैलकुलेशन

Budget 2023-24: बजट में कस्टम ड्यूटी में काफी बदलाव...

Budget 2023-24: गोल्ड और सिल्वर पर बढ़ी कस्टम ड्यूटी, जानें अब आप पर क्या पड़ेगा असर?

Budget 2023-24: वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण संसद में बजट पेश...

Budget 2023: बजट में सस्ते हुए स्मार्टफोन, टीवी समेत कई गैजेट्स, जानें कितनी मिली राहत

Budget 2023: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण वित्त वर्ष 2023-24...

Budget 2023-24: बजट में क्या सस्ता हुआ और क्या महंगा? जानिए सबकुछ

Budget 2023-24: आज यानि 1 फरवरी 2023 को देश का...

Budget 2023-24: क्या है अमृतकाल जिसका वित्त मंत्री ने बजट में बार-बार किया प्रयोग?

Budget 2023-24: वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण संसद में बजट पेश...

Budget 2023-24: कृषि क्षेत्र में होंगे ये नवाचार, किसानों को दी जाएगी डिजिटल ट्रेंनिग

Budget 2023-24: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण अपना 5वां और...

Hyundai Stargazer जल्द भारतीय मार्कट में होगी लॉन्च, तगड़े पॉवरट्रेन के साथ जानें कीमत

Hyundai की कई बेहतरीन गाड़ियां भारतीय मार्केट में मौजूद...

Mahindra Bolero Neo Limited Edition में है बेहद जबरदस्त फीचर्स, जानें कीमत

Mahindra की कई बेहतरीन गाड़ियां भारतीय मार्केट में मौजूद...