बिहार सरकार का बड़ा फैसला, विद्यार्थियों की 50% क्षमता के साथ खुलेंगे 11वीं और 12वीं के स्कूल

Nitish kumar
Image Credit: Nitish kumar/ Twitter

Unlock Bihar: कोरोना की दूसरी लहर के चलते बिहार सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है. सरकार ने लोगों को राहत देते हुए बताया है कि सभी सरकारी और निजी कार्यालयों को खोलने का निर्णय लिया गया है. वहीं विश्वविद्यालय, सभी कॉलेज, तकनीकि शिक्षण संस्थान, सरकारी प्रशिक्षण संस्थान, ग्यारहवीं एवं बारहवीं तक के विद्यालय 50% छात्रों की उपस्थिति के साथ खुलेंगे. शैक्षणिक संस्थानों के व्यस्क छात्र-छात्राओं, शिक्षकों एवं कर्मियों के लिए टीकाकरण की विशेष व्यवस्था होगी.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सरकारी और निजी कार्यालयों को खोलने की घोषणा कर दी है. लेकिन उन्होंने बताया है कि कार्यालय में वो लोग ही प्रवेश कर सकेंगे जिन्होंने कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीन लगवा ली है. बिना वैक्सीन लगवाए हुए लोगों को ऑफिस आने पर प्रतिबंध है.

वहीं सरकार ने रेस्टोरेंट और खाने की दुकान के संचालनों को राहत देते हुए 50 प्रतिशत लोगों के बैठने की क्षमता के साथ इनके संचालन करने की छूट दे दी है. कोरोना स्थिति की समीक्षा के बाद सभी सरकारी, गैर सरकारी कार्यालय को सामान्य रूप से खोलने का निर्णय लिया गया है.

आपको बता दें कि दो दिनों पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक की थी. इस दौरान उन्होंने बताया कि राज्य में कोरोना जांच और टीकाकरण को लेकर काम किए जा रहे हैं. इसके बावजूद प्रतिदिन कोरोना जांच की संख्या को और बढ़ाने के लिए अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए गए हैं.

ये भी पढ़ें: नई मुसीबत! कोविड से उबरने के बाद संक्रमितों की ‘गल रही हड्डियां’, डॉक्टर्स परेशान