ISRO का नेविगेशन सैटेलाइट NVS - 01 लांच, जानें इसकी खासियत

  
ISRO का नेविगेशन सैटेलाइट NVS - 01 लांच, जानें इसकी खासियत

ISRO ने 29 मई 2023 की सुबह 10 बजकर 48 मिनट पर सुबह भूस्थिर उपग्रह प्रक्षेपण यान (जीएसएलवी) से नेविगेशन सैटेलाइट ‘नाविक’ एनवीएस-1 को  को सफलतापूर्वक लॉन्च किया. इसे श्रीहरिकोटा के सतीश धवन लॉन्चिंग सेंटर से लांच किया गया. नाविक को अमेरिकी ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम (जीपीएस) का जवाब बताया जा रहा है और इसका इस्तेमाल स्थलीय, हवाई और समुद्री परिवहन, लोकेशन-आधारित सेवाओं, निजी गतिशीलता, संसाधन निगरानी, सर्वेक्षण और भूगणित, वैज्ञानिक अनुसंधान, समय प्रसार और आपात स्थिति में किया जाएगा.

जानकारी के लिए बता दें कि इसका नाविक का वजन 2232 किलो है और ये 1500 किमी क्षेत्र में तात्कालिक स्थिति तथा समय संबंधी सेवाएं प्रदान करेगा. बता दें कि ये प्रक्षेपण के 20 मिनट बाद करीब 251 किमी की ऊंचाई पर जाकर भू-स्थिर स्थानांतरण कक्ष में उपग्रह को स्थापित करेगा.

https://twitter.com/ANI/status/1663052195343007744?s=20

रूबिडियम परमाणु घड़ी लांच करने में होगा उपयोग

इसरो के मुताबिक, यह पहली बार स्वदेशी रूप से विकसित रूबिडियम परमाणु घड़ी का प्रक्षेपण में उपयोग किया जाएगा. अंतरिक्ष एजेंसी के अनुसार, वैज्ञानिक पहले तारीख और स्थान का निर्धारण करने के लिए आयातित रूबिडियम परमाणु घड़ियों का इस्तेमाल करते थे. अब अहमदाबाद स्थित अंतरिक्ष अनुप्रयोग केंद्र में विकसित रूबिडियम परमाणु घड़ी होगी. यह महत्वपूर्ण तकनीक कुछ ही देशों के पास है.

यह भी पढ़ें: Pluto का वातावरण हो सकता है गायब, वैज्ञानिकों ने पुष्टि करते हुए बताया ये कारण

Tags

Share this story

Around The Web

अभी अभी