comscore
Monday, December 5, 2022
- विज्ञापन -

Mann Ki Baat: पीएम मोदी ने चीतों के नामकरण को लेकर लोगों से मांगे सुझाव- सुने मन की बात में क्या कहा

Published Date:

Mann Ki Baat: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर मन की बात कार्यक्रम के जरिए लोगों तक अपनी बात पहुंचाई। इस कार्यक्रम के 93वें एपिसोड में पीएम मोदी ने कहा कि, चीतों की वापसी से देश में खुशी है। प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी  ने कहा कि पिछले दिनों देशवासियों का सबसे अधिक ध्यान चीता ने आकर्षित किया। चीतों के आने पर देश के कोने-कोने से लोगों ने प्रसन्नता व्यक्त की। 130 करोड़ भारतवासी खुश हैं, गर्व से भरे हैं।

कॉम्‍प्‍टीशन आयोजित किया जाएगा-PM

पीएम मोदी ने बताया कि ‘MyGov के प्‍लेटफॉर्म पर, एक कॉम्‍प्‍टीशन आयोजित किया जाएगा, जिसमें लोगों से मैं कुछ चीजें शेयर करने का आग्रह करता हूं चीतों को लेकर जो हम अभियान चला रहे हैं, आखिर, उस अभियान का नाम क्या होना चाहिए? क्या हम इन सभी चीतों के नामकरण के बारे में भी सोच सकते हैं कि, इनमें से हर एक को किस नाम से बुलाया जाए? वैसे ये नामकरण अगर ट्रेडिशनल हो तो काफी अच्छा रहेगा क्योंकि अपने समाज और संस्कृति, परंपरा और विरासत से जुड़ी हुई कोई भी चीज, हमें, सहज ही, अपनी ओर आकर्षित करती है।

70 साल बाद भारत की सरजमी पर चीते

भारत का 70 साल का इंतजार आज खत्म हुआ है। 17 सितंबर को नामीबिया से स्पेशल फ्लाइट 8 चीतों को भारत लेकर आई। 24 लोगों की टीम के साथ चीते ग्वालियर एयरबेस पर उतरे। यहां से चिनूक हेलिकॉप्टर के जरिए इन्हें कूनो नेशनल पार्क लाया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कूनो नेशनल पार्क में इनका प्रवेश करवाया था।  पहुंचे। उन्होंने बॉक्स खोलकर तीन चीतों को कूनो में क्वारंटीन बाड़े में छोड़ा। इस ऐतिहासिक पल को प्रधानमंत्री ने खुद कैमरे में कैद किया था।

देश में उत्सवों की रौनक

पीएम मोदी ने कहा कि इस समय देश में चारों ओर उत्सव की रौनक है. कल नवरात्रि का पहला दिन है. इसमें हम देवी के पहले स्वरूप ‘मां शैलपुत्री’ की उपासना करेंगे। यहां से 9 दिनों का नियम-संयम और उपवास, फिर विजयदशमी का पर्व भी होगा. यानि, एक तरह से देखें तो हम पाएंगे कि हमारे पर्वों में आस्था और आध्यात्मिकता के साथ-साथ कितना गहरा संदेश भी छिपा है।

ये भी पढ़ें-Cheetah Is Back: 70 साल का इंतजार आज खत्म, PM मोदी ने कूनो नेशनल पार्क में चीतों को छोड़ा,  देखें ये ऐतिहासिक पल

Shrikant Soni
Shrikant Sonihttp://hindi.thevocalnews.com
श्रीकांत सोनी, The Vocal News Hindi में बतौर Senior Sub-Editor कार्यरत हैं. उनकी रुचि बिज़नेस और लाइफस्टाइल में है और इन विषयों पर वह काफी समय से लिखते आ रहे हैं. उन्होंने अपनी जर्नलिज्म की पढ़ाई MSU से की है
- विज्ञापन -

ताजा खबरें

अन्य सम्बंधित खबरें

Chanakya Niti: वास्तव में पाना चाहते हैं अपने जीवन में सफलता, तो हंस से सीखें ये कला

Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य द्वारा व्यक्ति को जीवन में...