क्या गर्भवती महिलाएं लगवा सकती है कोविड वैक्सीन? स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिया जवाब

गर्भवती महिलाओं को वैक्सीन की डोज़ पर तमाम शंकाओं को दूर करते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिशा निर्देश जारी कर दिए है. गाइडलाइन के मुताबिक उपलब्ध COVID-19 वैक्सीन सुरक्षित हैं. अन्य व्यक्तियों की तरह गर्भवती महिलाएं भी COVID-19 संक्रमण से बचने के लिए कोरोना वैक्सीन लगवा सकती हैं.

गाइडलाइंस में कहा गया, “ज्यादातर गर्भवती महिलाएं एसिम्टॉमेटिक होंगी या उन्हें हल्की बीमारी होगी, लेकिन उनका स्वास्थ्य तेजी से बिगड़ सकता है और इससे भ्रूण भी प्रभावित हो सकता है. यह महत्वपूर्ण है कि वे खुद को कोविड -19 से बचाने के लिए सभी सावधानी बरतें, जिसमें कोविड के खिलाफ टीकाकरण भी शामिल है. इसलिए यह सलाह दी जाती है कि गर्भवती महिला को कोविड-19 के टीके लगवाने चाहिए.”

अब तक गंभीर मामले सामने नहीं आए

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, संक्रमण की चपेट में आईं 90% से ज्यादा महिलाएं बिना हॉस्पिटल में एडमिट कराए रिकवर जाती हैं. कुछेक की सेहत में गिरावट हो सकती है. संक्रमण के लक्षण वाली महिलाओं को ज्यादा खतरा रहता है. अगर उनकी उम्र 35 साल से ज्यादा है और हाई ब्लड प्रेशर या मोटापे की दिक्कत है तो सीवियर इलनेस का बहुत ज्यादा खतरा रहता है.

कोरोना पॉजिटिव महिला से जन्म लेने वाले 95% से ज्यादा नवजात सेहतमंद रहते हैं. कुछ मामलों में कोरोना का संक्रमण प्री मैच्योर डिलीवरी, बच्चों का वजन ढाई किलो से कम होना या बहुत कम केस में बच्चे की मौत की वजह बन सकता है.

को-विन पोर्टल/ऑन-साइट टीकाकरण केंद्र पर रजिस्ट्रेशन

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सभी गर्भवती महिलाओं को को-विन पोर्टल पर खुद का रजिस्ट्रेशन करने या कोविड -19 टीकाकरण केंद्र में साइट पर खुद को पंजीकृत कराने की सलाह दी.

ये भी पढ़ें: कोरोना- फेफड़ों के अंदर पहुंच रहा ‘डेल्टा+ वेरिएंट’, राज्य को किया गया अलर्ट